खुलासा: तुमगांव घाडाघाट में हुए साढ़ें 11 लाख रुपए के लूट में छह आरोपी गिरफ्तार, शराब दुकान पूर्व सेल्सेमैन ही निकला घटना का मास्टरमाइंड

0
webmorcha
खुलासा: तुमगांव घाडाघाट

रविवार 18 अक्टूबर महासमुंद। शनिवार को तुमगांव स्थित गाड़ाघाट के पास सरकारी शराब दुकान के कर्मचारी से दिनदहाड़ें साढ़ें 11 लाख रुपए की लूट हो गई थी। इस मामले को महासमुंद पुलिस ने सुलझा लिया है। इस लूट घटना में शामिल छह लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस लूट की घटना में पूर्व सैल्समैन ही इस गिरोह का मास्टरमाइंड था।

शराब भट्टी का पूर्व सेल्समेन ही निकला घटना का मास्टरमाईड़, दुकान के सेल्समेन और अपने दोस्तो के साथ मिलकर दिया घटना को अंजाम।

दिनांक 17.10.2020 को लगभग 11ः00 बजें प्रार्थी मनीष गुप्ता सुपरवाईजर शासकीय देशी शराब दुकान गाड़ाघाट तुमगांव द्वारा थाना तुमगांव में दिनांक 17.10.2020 को सूचना दिया उनके साथ तीन अज्ञात नकाबपोशों ने प्रातः 11ः00 बजें लूट-पाट कर देशी शराब भट्टी के बिक्री के पैसा 11,52,000 रूपयें ले गया है। दिनदहाड़े लूट की घटना तत्काल समस्त जिलें के थाना/चैकी प्रभारियों को उक्त लूट की घटना के बारे में बताकर नाकेबंदी करने हेतु निर्देश दिया गया एवं तत्काल सायबर सेल की टीम एंव थाना तुमगावं की टीम को आरोपियों का पता तलाश कर पकड़ने हेतु निर्देशित किया।

सायबर सेल व थाना तुमगांव का टीम मौके पर पहुचकर घटना की विस्तृत जानकारी लेकर प्रार्थी मनीष गुप्ता सुरवाईजर देशी शराब दुकान गाड़ाघाट से पूछताछ किया तो बताया कि वह प्रतिदिन के भांति प्रातः 08ः00 बजें शराब दुकान खोला तथा शराब बिक्री के अंग्रेजी शराब दुकान के लाॅककर में रखे हुये पैसे 11,52,000 रूपयें को बैग में रखकर बैंक में जमा कराने हेतु महासमुंद के लिए मोटर सायकल से निकला था कि नहर किनारे खड़े तीन नकाबपोश व्यक्ति ने शराबी का हुलिया बनाकर लड़खड़ाते हुये मुझसे आ टकराया।

जिससें मनीष लड़खड़ाकर नहर किनारे गिरपड़ा, मनीष गुप्ता के मोटर सायकल से गिरने पर आरोपियों ने उसपर मिर्ची पाउडर से हमला कर रूपये से भरा बैंग लूटने लगा। प्रार्थी द्वारा पैसे को लूटने से बचाने हेतु आरोपियों के साथ झुमाझपटी किया किन्तु मिर्ची पाउडर आंख में लगने और कुछ दिखाई नही देने की वजह से आरोपी बैंग लेकर फरार होने में कामयब हो गया। इस दौरान प्रार्थी द्वारा मद्द के लिए आवाज लगाये लेकिन सुनसान ईलाका होने के वजह से कोई मद्द के लिए उपस्थित नही हो पाये। सायबर सेल की टीम गाड़ाघट गांव के आसपास के लोगो से पूछताछ किया तो लोगो ने मोटर सायकल में तीन व्यक्ति को नहरे की ओर जाते देखा बताया।

यहां पढ़ें: ‘Babita Ji ‘ के इस Look ने उड़ाए लोगों के होश, इन Photos पर हारे दिल

जिसपर तत्काल प्रार्थी एवं अन्य आधार से प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपिगण के हुलियो व घटना के बाद जाने वाले रास्ते पर उक्त टीम सीसीटीव्ही फुटेज व अन्य तकनिकी मद्द से यह पता चला की उक्त आरोपी घटना पश्चात् समोदा की ओर बढ़े है एवं टीम द्वारा उक्त घटना के संबंध में अन्य जानकारी प्राप्त करने पर यह पता चला की उक्त दुकान में ही पूर्व में काम करने वाला विजय मनहर विगत दिन-चार दिनों से उक्त शराब भट्टी के आसपास घुमता हुआ देखा गया है एवं उसके साथ अन्य तीन-चार लोग भी दिखे थे, जोकि महासमुंद जिले के नही थे। तभी पता चला की प्रार्थी मनीष गुप्ता से विजय मनहर का पूर्व से वाद-विवाद हुआ।

जिसके चलते आरोपी विजय मनहर द्वारा प्रार्थी मनीष गुप्ता को नुकसान पहुचाने का प्लान बना रहा था। तभी विजय मनहर जोकि पूर्व में उक्त शराब भट्टी में सेल्समेन के रूप में काम कर चुका है। वह अच्छे से जानता है कि शराब दुकान में रखाया पैसा सुपरवाईजर कब जमा करने जाता है व किस रास्ते से जाता है। तभी विजय मनहर उक्त शराब दुकान में कार्य करने वाले सेल्समेन राहुल नंदे व राजेश कुमार जांगड़े को भी अपने प्लान में शामिल कर मनीष गुप्ता को लूटने का प्लान बनाया और अपने पहचान के रहने वाले देवगांव थाना खरोरा के रहने वाले धनीराम घृतलहरे उर्फ धनी व योगेश घृतलहरे व अमर घृतलहरे को भी अपने प्लान में शामिल किया।

यहां पढ़ेंइस सप्ताह कन्या, तुला और मीन को मिलेगा फायदा, मिथुन, वृच्चिक रहे अलर्ट

जिसपर से उक्त सभी लोग एक सुनियोजित प्लान के तहत मनीष गुप्ता को पैसा जमा कराने जाते समय लूटने का प्लान कियें कल दिनांक जैसे ही मनीष गुप्ता शराब बिक्री की रकम 11,52,000 रूपयें को बैंग में भरकर जमा कराने के लिए निकला तभी सेल्समेन राहुल नंदे व राजेश द्वारा नहर वाले रास्ते में पहले से ही खड़े व वहा पर रेकी कर रहे विजय मनहर को बताया। विजय जोकि पहले से ही नहर के किनारे वाले रास्ते में खड़ा था और मनीष गुप्ता के आने का इंतजार कर रहा था

और वही से कुछ दूरी पर विजय मनहर के रायपुर से आये दोस्त धनीराम घृतलहरे उर्फ धनी व योगेश घृतलहरे व अमर घृतलहरे जोकि लूटने के लिए उस रास्ते में खड़े थे। उनको इशारे में बताया कि मनीष गुप्ता आ चुंका है फिर तभी मौके का फायदा उठाकर उक्त तीनो व्यक्ति मनीष को उसके मोटर सायकल के साथ गिराकर गिरने के बाद उसके आंख में लाल मिर्च पाउडर डालकर के मनीष के पास रखे 11,52,000 रूपयें को लूटकर ले गया। घटना पश्चात् आरोपिगण समोदा के रास्ते अपने-अपने घर चले गये व लूटेे गये रकम को आपस में बांट लियें।

जिसें सायबर सेल, थाना तुमगावं की टीम विभिन्न स्थानों पर छापेमारी पर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर के निर्देेशन में अनु0अधिकारी (पु) महासमुंद नारद सूर्यवंशी के मार्गदर्शन में थाना तुमगांव प्रभारी केशव कोसले, सायबर सेल प्रभारी संजय सिंह राजपूत, प्रआर प्रकाश नंद, सतीश शर्मा, मिनेश धु्रव, प्रवीण शुक्ला आर. शुभम पाण्डेय, चम्पलेश ठाकुर, रवि यादव, विरेन्द्र नेताम, शैलेष ठाकुर, देव कोसरिया, दिनेश साहू, अजय जांगड़़े, लाल कुर्रे संजय निषाद, अनिल गिलहरे आदि द्वारा की गई।

यहां पढ़ें: आपकी एक गलती रोक सकती है PM -किसान Scheme के 6000 रुपये, 47 लाख किसानों की Payment रुकी

loading...

आरोपियों का नाम –

01. विजय मनहरे पिता मोतीलाल मनहरे उम्र 31 वर्ष सा0 परसवानी थाना खरोरा जिला रायपुर।

02. राजेश कुमार जांगड़़े पिता सुखराम जांगड़े उम्र 23 वर्ष सा0 ग्राम जोगीडीपा थाना पटेवा।

03. राहुल नंदे पिता पुरूषोत्तम नंदे उम्र 27 वर्ष ग्राम जोगीडीपा थाना पटेवा।

04. धनीराम उर्फ धनी पिता सरजू प्रसाद घृतलहरे उम्र 26 वर्ष सा0 देवगांव थाना खरोरा जिला रायपुर।

05. योगेश पिता खुलास घृतलहरे उम्र 22 वर्ष सा. देवगांव थाना खरोरा जिला रायपुर।

06. अमर पिता प्रकाश घृतलहरे उम्र 22 वर्ष सा. देवगांव थाना खरोरा जिला रायपुर।

जप्त सामग्री –

01. नगदी 11,52,000 रूपयेे।

02. घटना में प्रयुक्त मोसा0 CG 04 HJ 2971 डिलक्स, CG 04 HJ 8782 होण्डा साईन।

यहां देखिए वीडियो…

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here