कोमाखानमहासमुन्दमेरा गांव मेरा शहररायपुरलेख-आलेख

छत्तीसगढ़ में ”गरवा’’ बचाने का स्लोगन हाइटेक, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ ऐसा, जिसे देखकर रूह कॉप रहा?

दिलीप शर्मा। चार दशक पहले ”गरवा’’ परिवार का एक अभिन्न अंग रहा करता था। ”गरवा’’ के बीमार हो जाने से परिवार के लोग चिंतित हो जाते थे। लेकिन अब ”गरवा’’ को ‘’आवारा” नाम दे दिया गया है, और सच भी यहीं है? प्रदेश सरकार ने ”गरवा’’ को संरक्षित करने का बीड़ा उठाया, हालांकि इसका त्वरित लाभ नहीं मिलने के कारण रोजाना सड़कों पर दर्जनों ”गरवा’’ दम तोड़ रही है। ऐसा नहीं है कि इसकी जानकारी शासन-प्रशासन को नहीं है, लेकिन अभी तक जिम्मेदारी तय नहीं हुई है, कि सड़क से ”गरवा’’ को कैसे हटाया जाए?

यहां पढ़ें : http://बदला और तबादला को ही बदलाव समझ बैठी है कांग्रेस : भाजपा

बतादें कि बीती रात (सोमवार) को राष्ट्रीय राज मार्ग 53 टप्पा सवैया ( पिथौरा) के पास अज्ञात वाहन ने एक साथ 9 ”गरवा’’ को रौंद डाला, सभी की मौत हो गई। मंगलवार की सुबह ढाक टोल के कर्मचारियों द्वारा मवेशियों को सड़क से हटाया गया। यह पहली घटना है ऐसा नहीं। सराईपाली से रायपुर तक हाइवे में रोजाना दर्जनों ”गरवा’’ की मौत होती है। आखिर ”गरवा’’ को संरक्षित करने की दिशा यहां से क्यो शुरू नहीं हो रही है? विडबंना आज हजारों की संख्या में ”गरवा’’ लावारिश स्थिति में है, खासकर बरसात के कारण ”गरवा’’ सड़क पर आ जाती है, एक तरह से ”गरवा’’ का घर सड़क बन गई है। इधर, इन आवारा मवेशियों के कारण किसान परेशान हैं, किसानों के फसल चौपट हो रहा है।

http://सोने-चांदी की कीमतों में आई गिरावट, जानिए आज का भाव

प्रदेश सरकार के मंशानुरूप गरवा के लिए गांवों में जो भी पशु-धन है उन्हें एक ऐसा डे-केयर सेंटर उपलब्ध करवाना है, जिसमें वे आसानी रह सके और उन्हें चारा, पानी उपलब्ध हो। इसके लिए उसके लिए गोठान निर्माण से लेकर आवश्यक संसाधन, जमीन आदि प्रदान किए जा रहे हैं। लेकिन, हाइवे और सड़कों पर जमघट गरवा को हटाने की दिशा में अब तक प्रयास नहीं किए गए हैं। जिसका नतीजा कि रोजाना दर्जनों गरवा बेमौत मारे जा रहे हैं?

पिकनिक मनाने गए तीन युवक खारुन नदी में डूबे, एक को ग्रामीणों ने बचाया

हमसे जुड़िए…

https://twitter.com/home

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500, 8871342716, 7804033123

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button