सराहनीय कदम: लॉकडाउन में महासमुंद शहर के घुमंतू पशु लिए समाजसेवकों ने चारा खिलाने का उठाया बीड़ा, देखिए वीडियो…

दिलीप शर्मा। कोरोना संकट ने मानव जीवन ही नहीं अपितू हर प्राणी को खतरें में डाल दिया है। लेकिन मूखबधिर प्राणी इस बात से अंजान हैं। मानव संकट के बीच इन्हें भोजन भी नहीं मिल रहा है। खासकर बचपन से लेकर बड़े होते तक देखते आ रहे हैं उसमें सबसे अधिक मानव पर निर्भर रहने वाले गाय-बैल-बछड़ा जैसे मुखबधिर प्राणी है। जो मानव के उपर निर्भर हैं। ऐसे में लॉकडाउन है, चारो ओर लोग घरों में कैद हैं, दुकानें बंद है। मुखबधिर जानवर भोजन की तलाश में भटक रहे हैं। बतादें महासमुंद शहर में ही हजारों की संख्या में ऐसे जानवर है, जिनका कोई मालिक नहीं है।

मानवता: महासमुंद जिले में 28 संदिग्ध प्रकरण, बावजूद कोरोना से डरे बिना निराश्रितों को खाना परोस रहे स्वयं सेवी

इन्हीं सब के बीच महासमुंद के कुछ गौ सेवा प्रेमियों द्वारा महासमुंद शहर के घुमंतू पशु के लिए अपने स्वयं के व्यय से चारा के रूप में सब्जी खरीद कर प्रतिदिन शहर के घुमंतू पशुओं को चारा खिलाने का बीड़ा उठाया है। 14 अप्रैल से शुरू की इस मूहिम में पहले दिन एक मेटाडोर सब्जी फार्म हाउस से मंगवाए हैं। बताया कि पूरे लॉकडाउन के दौरान रोजाना घुमंतु पशुओं का चारा खिलाने का काम करेंगे।

यहां देखें वीडियो

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123