Solar Eclipse 2019 : दशक के अंतिम सबसे बड़ा सूर्य ग्रहण क्या है आप भी जानिए

0
36

पंडितों और शास्त्रों की मानें तो साल भर के भीतर तीन या उससे अधिक सूर्य ग्रहण को शुभ नहीं माने जाते हैं, और इस साल का यह तीसरा सूर्य ग्रहण है। लिहाजा ज्योतिषी कह रहे हैं कि यह  सूर्य ग्रहण राजनीतिक उथल-पुथल से लेकर कोई प्राकृतिक आपदा भी ला सकता है। हालांकि विज्ञान ऐसी किसी मान्यता को नहीं मानता है।

– भारतीय समय अनुसार आंशिक सूर्य ग्रहण सुबह 8.17 मिनट से शुरू होगा और सूर्य ग्रहण सुबह 9.24 से चंद्रमा सूर्य के किनारे को ढकना शुरू करेगा।

– पूर्ण सूर्य ग्रहण सुबह 9.26 पर दिखाई देगा। वहीं, 10.57 तक यह सूर्य ग्रहण खत्म हो जाएगा।

– भारत मेंग्रहण की अवधि अवधि 2 घंटे 40 मिनट 6 सेकंड होगी। इस सूर्य ग्रहण का सूतक बारह घंटे पहले ही 25 दिसंबर की रात 8:17 पर लग गया।

– दुनियाभर में दोपहर 1 बजकर 35 मिनट तक रहेगा सूर्य ग्रहण। यह पिछले 58 साल में सबसे लंबा सूर्य ग्रहण होगा।

– ग्रहण की वजह से सूतक बुधवार रात 8 बजे लग गया। इस दौरान मंदिरों के कपाट बंद कर दिए गए।

– इससे पहले इस साल 6 जनवरी और 2 जुलाई को आंशिक सूर्यग्रहण लगा था।

– यह एक विशेष खगोलीय घटना होगी जिसमें सूर्य ‘रिंग ऑफ फायर’ की तरह दिखेगा। इसे भारत, ऑस्ट्रेलिया, फिलिपिंस, साउदी अरब और सिंगापुर जैसे जगहों में देखा जा सकता है।

– पूर्ण सूर्य ग्रहण को देश के दक्षिणी भाग में कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के हिस्सों देखा जा सकेगा। भारत के अन्य हिस्सों में इसका असर कम रहेगा।

खंडग्रास सूर्यग्रहण क्या होता है?

क्या होता है सूर्य ग्रहण : सूर्य ग्रहण तब होता है जब सूर्य आंशिक अथवा पूर्ण रूप से चंद्रमा द्वारा आवृत्त हो जाए। वैज्ञानिकों के अनुसार धरती सूरज की परिक्रमा करती है और चंद्रमा धरती की परिक्रमा करता है। जब सूर्य और धरती के बीच चंद्रमा आ जाता है तो वह सूर्य की रोशनी को कुछ समय के लिए ढंक लेता है। इस घटना को ही सूर्य ग्रहण कहते हैं।

साल 2019 की आखिरी रोमांचक खगोलीय घटना सूर्यग्रहण गुरुवार को घटित होने जा रही है। यह एक आंशिक सूर्यग्रहण है। ग्रहण के दौरान सूर्य का लगभग 44.11 प्रतिशत हिस्सा चंद्रमा द्वारा ढक लिया जाएगा।

  1. कहा जाता है कि इस दौरान पूजा-पाठ और मूर्ति पूजा नहीं करनी चाहिए।
  2. सूर्य ग्रहण के दौरान तुलसी और शामी के पौधे को नहीं छूना चाहिए।
  3. ग्रहण काल के दौरान खाना खाना और पकाना नहीं चाहिए।
  4. ग्रहण के दौरान सोना नहीं चाहिए।

सूर्य ग्रहण से पहले करें ये काम

  1. सूर्य ग्रहण से पहले दूध-दही जैसी चीजों में तुलसी के पत्ते डाल लें।
  2. ग्रहण से पहले ही भोजन कर ले। वही पके हुए भोजन को बचाए नहीं उसे खाकर खत्‍म कर दे।
  3. अगर आराम करना है तो ग्रहण से पहले ही कर लें।

सूर्य ग्रहण के बाद करें ये काम

  1. ग्रहण खत्‍म होने बाद सबसे पहले स्‍नान करें।
  2. इसके बाद तुलसी और शामी के पौधों में गंगाजल का छिड़काव करें।
  3. गरीबों और जरूरतमंदों को दानपुण्य करें।

हमसे जुड़िए…

https://twitter.com/home

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500, 7804033123

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here