अध्ययन: सुस्त जीवनशैली वालों को कोविड से मौत का खतरा 32 फीसदी ज्यादा

कोरोना संक्रमित होने से पूर्व जो व्यक्ति एक्सरसाइज नहीं करता है, उसके गंभीर रूप से बीमार होने की संभावनाएं अधिक हैं। आलसी लोग या किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधि न करने वालों में कोविड संक्रमण के कारण से हॉस्पीटल में, आईसीयू में और कोविड से मौत का खतरा क्रमश: 20, 10 और 32 प्रतिशत ज्यादा है। यह दावा ब्रिटिश जर्नल ऑफ स्पोर्ट्स मेडिसिन में शनिवार को प्रकाशित स्टडी में किया गया है।

Video: पोलार्ड ने छक्कों से मचाया कोहराम, मुंबई को दिलाई बेहतरीन जीत, फिर ऐसे मनाई खुशी

अध्ययन में यह भी दावा किया गया है कि धूम्रपान, मोटापा और हाइपरटेंशन के मुकाबले शारीरिक तौर पर निष्क्रिय होना ज्यादा डेंजर है। अब तक किए गए शोध के मुताबिक बढ़ती उम्र, डायबिटीज, मोटापा या कार्डिवैस्क्युलर बीमारी की वजह से कोरोना संक्रमण होने पर मरीज गंभीर रूप से बीमार पड़ रहा है। लेकिन, अमेरिका में 48,440 कोरोना संक्रमित व्यस्कों पर किए गए शोध में यह बात सामने आई है कि महामारी आने से पहले न्यूनतम दो सालों तक निष्क्रिय जीवनशैली बिताने वाले लोगों के लिए कोविड बेहद खतरनाक साबित हो सकता है।

LIVE: सत्ता का बादशाह कौन‌? West Bangal Election Result 2021 LIVE Streaming

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123