तिलमिलाए एस.डी.ओ.शिवशंकर नाविक स्थानांतरण हो जाने के बाद भी यथावत के लिये मार रहे है चक्कर : लोकेश चन्द्राकर

महासमुंद। वन विभाग के अंतर्गत सामान्य वन मंडल महासमुंद में पदस्थ शिव शंकर नाविक एस.डी.ओ. चार्ज राकेश कुमार चौबे को जानबूझकर नही देते हुये इधर उधर भाग रहे हैं। खुर्सी का मोह त्याग नही पा रहे है, स्वयं महासमुंद में लंबे समय से पदस्थ रहे है। एस. डी. ओ. शिवशंकर नाविक, इनके संबंध में कईयों शिकायत है जिसका आज तक निराकरण नही किया गया है। उच्चाधिकारियों के द्वारा, अपने मनमानी से जाने जाते है। हाथी प्रकरण में लाखों करोंड़ो रूपया का घपला सामने आने के बाद भी उच्च स्तर के अधिकारी इन लोगों के विरूद्ध कार्यवाही नही कर पा रहे है।

http://छत्तीसगढ़: सात एडिशनल SP का ट्रांसफ़र, दुर्ग, सरगुजा राजनांदगांव समेत यहां हुए चेंज

उच्च स्तर के अधिकारीयों के श्रय के कारण आज तक रिलिफ नही किया गया है इन्हें, पूर्व में भी इन्हे महासमुंद जिला से हटाने का मांग समाज सेवी लोकेश चन्द्राकर  के द्वारा मुख्यमंत्री, वनमंत्री एवं राज्यपाल को लिखित शिकायत किया गया था। जिसका जांच आज तक लंबित हैं। यही शिवशंकर नाविक एस. डी. ओ. है जो कृष्ण कुमार पटेल दैनिक वेतन भोगी, व डुकेश्वर शर्मा को कार्य से पृथक कर मानसिक रूप से प्रताड़ित किये थे व कृष्ण कुमार पटेल द्वारा आत्मदाह करने के लिए मजबूर हो गए थे।

http://7वें वेतनमान के एरियर की तीसरी किश्त की शेष 75 प्रतिशत राशि के नगद भुगतान का आदेश जारी

केवल निचले स्तर के श्रमिकों को प्रताड़ित करने के नाम से जाने जाते है। हाथी फसल क्षतिपूर्ती में बहुत बड़ी फर्जीवाड़ा हुआ है। यही निरीक्षण करता अधिकारी रहे है जिनके निरीक्षण करने के पश्चात शासन को लाखो, करोड़ों रूपया का घपला बाजी किया गया है, अपने निजी घर में श्रमिकों को ले जाकर प्रताड़ित करना  ऐसे अधिकारी को महासमुंद से हटाने का मांग किया गया था। स्थानांतरण रूकवाने के लिये अटैची लेकर अधिकारियों व नेताओ के घर का चक्कर काट रहे हैं।

Leave a Comment