सड़क किनारे मिली कांस्टेबल की संदिग्ध लाश, परिजन बोले- ये मर्डर है, एक दिन पहले सोशल मीडिया पर लिखा था.. निलंबित करने की मिल रही धमकी

जांजगीर। जांजगीर जिले में गुरुवार की देर रात देशी शराब दुकान के पास के पास सड़क किनारे कांस्टेबल पुष्पराज सिंह की लाश मिली है। सड़क के किनारे Pushparaj की स्कूटी भी मौजूद था। कांस्टेबल पुष्पराज सिंह के शरीर पर बिजली के तार लिपटे मिले, गले में भी तार फंसा हुआ था। Police इसे एक हादसा बता रही है, लेकिन,परिजन इसे हत्या होने की शंका जता रहे हैं। जांजगीर Police अब इस मामले में जांच कर रही है।

Police के अनुसार ऐसे हुई मौत

अब तक की जांच में Police ने पाया कि पुष्पराज की स्कूटी सड़क किनारे लगे तार में फंस गई। स्कूटी रफ्तार में होने की वजह से अनियंत्रित होकर घुम गई और तार Pushparaj के गले में कसता चला गया। इसी वजह से पुष्पराज का दम घुट गया और उसकी मौत हो गई। हालांकि फॉरेंसिक एक्सपर्ट इस मामले की बारीकी से पड़ताल कर रहे हैं। पोस्टमार्टम के लिए भी पुष्पराज का शव भेजा गया, जिससे मौत के कारणों का पता चल सकें।

छत्तीसगढ़: संकट से अभी नहीं मिलेगी मुक्ति, धीरे-धीरे ही ओपन होगा मार्केट, रायपुर समेत अधिकांश जिले में आज जारी होगा गाइडलाइन

बतादें, पुष्पराज साहू ने एक दिन पहले अपने Facbook पर एक पोस्ट किया था। इसमें उसने लिखा था कि उसे बर्खास्त करने या सस्पेंड करने की धमकी मिल रही है। Pushparaj लगातार, Police वालों से Police लाइन में मजदूरों की तरह काम करवाने, खराब क्वालिटी के बुलेट प्रूफ जैकेट, नक्सल मामले पर Police और सरकार की नीतियों पर खुलकर खिलाफत करते रहे हैं।

webmorcha.com
कांस्टेबल पुष्पराज सिंह

परिजन बोले ये- प्लांड हत्या है

पुष्पराज के भाई ने हादसे की जगह का मुआयना किया। मीडिया से उसने कहा कि उसके भाई की हत्या की गई है। दरअसल आए दिन सोशल मीडिया पर पुष्पराज Police विभाग के अफसरों यहां तक की गृहमंत्री के खिलाफ भी बातें लिखकर पोस्ट करता रहा है। उसने हाल ही में सक्ती थाने के प्रभारी के खिलाफ पोस्ट की थी, उसमें लिखा था कि 1 लाख रुपए महीना घूस लेकर इंस्पेक्टर जुए के अड्‌डे चलवाता है। अब ये पोस्ट Pushparaj के Facbook पर नहीं दिख रही। पुष्पराज के परिवार के लोगों ने इसी तरह के विवाद को उसकी मर्डर की वजह बताया और अंदेशा जताया है कि किसी ने इसी वजह से नाराज होकर पुष्पराज की हत्या कर दी।

webmorcha.com
फेसबुक पोस्ट

तीन बार निलंबित, हर बार मिली जॉइनिंग

Police सूत्रों की मानें तो छत्तीसगढ़ के इतिहास में ऐसा पहला मामला है कि किसी कांस्टेबल को तीन बार बर्खास्त किया गया हो और तीनों बार इसे जॉइनिंग दे दी गई हो। अक्टूबर 2019 में Pushparaj पर इल्जाम लगा था कि इसने Police आंदोलन को हवा दी। इसके बाद एक बड़े गांजा तस्कर से 60 हजार रुपए लेकर उसे छोड़ने, 109 दिन तक ड्यूटी में अनुपस्थित रहने, SP से बहस करने के मामले में Pushparaj को बर्खास्त किया जा चुका है। मगर हर बार विभागीय जांच और सरकारी नौकरी के नियमों के जरिए Pushparaj के खाते में दोबारा बहाली आई। इस समय वो सक्ती थाने में पोस्टेड था।

webmorcha.com