पुलिस तय कर रही चोरी की रकम, परिजन के बयान को मान रही विरोधाभाष, जबकि एक ही रात में तीन जगहों पर हुई थी लाखों की चोरी

महासमुंद। जिस घर में चोरी हुई है, उसे मालूम है कि क्या चोरी हुई और कितना। लेकिन यहां उल्टा है,