लड़के के पेट से डॉक्टर ने निकाला एक किलो का पत्थर, ऐसे बचाई जान

मुंबई के एक डॉक्टर ने कोलकाता के 17 वर्षीय एक लड़के के मूत्राशय से करीब एक किलोग्राम वजन का पत्थर निकाला है। 30 जून को एक जटिल सर्जरी के माध्यम से नारियल के आकार वाले इस पत्थर को डॉक्टर ने निकाला है।

दरअसल, मुंबई के डॉक्टर राजीव रेडकर ने यह पत्थर निकालकर रूबेन नामक लड़के को नया जीवन दे दिया है। जानकारी के मुताबिक, रूबेन के जन्म के समय से ही उनके मूत्राशय में विकृत थी। रूबेन एक्सस्ट्रोफी-एपिस्पेडियास कॉम्प्लेक्स (ईईसी) नामक बीमारी से पीड़ित थे। यह ऐसी दुर्लभ बीमारी है जो करीब 100,000 में से किसी एक में पाई जाती है।

ऐसे मामलों में यह दिक्कत होती है कि मरीज का मूत्राशय सामान्य रूप से कार्य नहीं कर सकता है, जिसके परिणामस्वरूप मूत्र रिसाव होता है। इतना ही नहीं डॉक्टर राजीव रेडकर ने दूसरी बार रूबेन के जीवन को बचाया है. करीब 15 साल पहले डॉ रेडकर ने रूबेन का इलाज किया था, तब उन्होंने मूत्राशय के आकार को बढ़ाने के लिए एक ऑपरेशन किया था ऐसी व्यवस्था की थी जिससे वह पेशाब कर सके।