साल का पहला चंद्र ग्रहण 26 मई को होगा, वृच्चिक, मिथुन, सिंह और कुंभ रहें अलर्ट

चंद्र ग्रहण : ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, इस साल अर्थात कि साल 2021 का पहला चंद्रग्रहण 26 मई को होने वाली है। यह चंद्रग्रहण उपछाया चंद्रग्रहण होगा. उपछाया चंद्र ग्रहण में कोई सूतक काल नहीं होता है. इसलिए इस चंद्रग्रहण का कोई सूतक काल नहीं होगा. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, चंद्रग्रहण का कुछ राशियों पर अच्छा प्रभाव पडेगा वहीं  वृच्चिक, मिथुन, सिंह और कुंभ राशियों पर इसका बुरा प्रभाव पडेगा. आइये जानें…

वृश्चिक राशि :

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, वृश्चिक राशि पर इस चंद्रग्रहण का बुरा प्रभाव पड़ेगा. इस दौरान इस राशि के जातकों के कार्यों में बाधाएं उत्पन्न होंगी. इस राशि के जातक वाद-विवाद में फंस सकते हैं. उनके कैरियर में मुश्किलें उत्पन्न हो सकती है. माता-पिता का स्वास्थ्य ख़राब हो सकता है.

घरों और ऑफिस में AC से फैल रहा कोविड, आप भी बरतें ऐसे सावधानियां

मिथुन राशि:

चंद्रग्रहण के प्रभाव से मिथुन राशि के जातकों की स्वास्थ्य ख़राब हो सकती है. इस दौरान मानसिक तनाव बना रहेगा. छोटे भाई बहनों से संबंध खराब हो सकते हैं. इस राशि के जातकों को चंद्रग्रहण के दौरान अपनी वाणी पर नियंत्रण रखना चाहिए अन्यथा वाद विवाद हो सकता है.

सिंह राशि:

इस चंद्रग्रहण के प्रभाव से सिंह राशि के जातकों का अपने लव पार्टनर से संबंध खराब कर सकता है। उनकी पारिवारिक जीवन पर भी इस चंद्रग्रहण का बुरा असर देखने को मिलेगा. माता-पिता से किसी मामले पर मत भिन्नता हो सकती है. करियर में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

कुंभ राशि:

इस दौरान कुंभ राशि के जातकों का स्वास्थ्य ख़राब हो सकती है. सिर दर्द परेशान कर सकता है. बिजनेस में हानि हो सकती है. वाहन चलाने में सावधानी बरतें. कोई भी काम सोच समझकर ही करें.

चंद्रग्रहण की तारीख और समय {भारतीय समय के अनुसार} :

भारतीय समय के मुताबिक, इस साल का पहला चंद्रग्रहण 26 मई 2021 को दोपहर 2 बजकर 17 मिनट से शुरू होगा और शाम 07 बजकर 19 मिनट पर समाप्त होगा. दिन में लगने के कारण यह चंद्रग्रहण भारत में हर स्थान से नहीं दिखाई देगा.