Friday, January 22, 2021
Home देश/विदेश शख्स ने चालू की Car , तभी आई कुछ आवाज, बोनट खोला...

शख्स ने चालू की Car , तभी आई कुछ आवाज, बोनट खोला तो उड़े गए होश

नई दिल्ली। इंसान और सांपों का सामना कहीं भी कभी भी हो सकता है, अगर ये सरीसृप आपकी कार के बोनट में मिले तो इसमें हैरान होने वाली कोई बात नहीं है। हां, लेकिन आपको जरूर सावधान रहने की जरूरत है।
ऐसा ही एक मामला Uttar Pradesh के Agra से सामने आया है जहां, एक शख्स ने अपनी Car Start की तो बोनट के अंदर से फड़फड़ाने की आवाज आने लगी। जब शख्स ने बोनट उठाकर देखा तो उसकी आंखें फटी की फटी रह गईं।

बागबाहरा: शिक्षिका ने फोन नहीं उठाया तो घर पहुंच बाल पकड़ जमकर मारपीट

Car के बोनट में छिपा था अजगर
Wildlife  के प्रभारी श्रेष्ठ पचौरी ने बताया कि उनकी टीम को गुरुवार की सुबह असोपा हॉस्पिटल के पास एलआईसी बिल्डिंग की कॉलोनी में खड़ी कार में विशालकाय अजगर (python) के छिपे होने की सूचना मिली।

अधिकारी के मुताबिक कार मालिक ने जब गाड़ी Start की तो पता चला बोनट के अदंर एक अजगर छिपा हुआ है। हालांकि वाइल्ड Life टीम को इसकी सूचना मिलने पर कार की बोनट में फंसे चार फुट अजगर को सुरक्षित निकाल लिया गया।

अंक ज्योतिष से जानिए आपके लिए साल 2021 क्या दे रहा नया अवसर

Wildlife  टीम को दी सूचना
Media Report के मुताबिक गैलाना रोड स्थित एलआईसी कॉलोनी में रहने वाले एक परिवार के लिए गुरुवार की सुबह यादगार रही। अपनी कार के बोनट में अजगर के मिलने की इस घटना को वह कभी नहीं भूल पाएंगे। बताया जा रहा है कि कार की बोनट में अजगर एक संकीर्ष जगह में फंस गया था, वह खुद भी इस जगह से नहीं निकल पा रहा था। इसके बाद परिवार ने एनजीओं को कॉल कर उनसे मदद मांगी।
अजगर को जंगल में छोड़ा
Wildlife  को सूचना मिलने के बाद दो-सदस्यीय मौके पर पहुंची और आधे घंटे चले ऑपरेशन के बाद अजगर को सुरक्षित कार के बोनट से बाहर निकाल लिया गया। परिवार के एक गुरुमीत सिंह सोढ़ी ने बताया कि कार के बोनट में फंसे अजगर को देखकर वो घबरा गए। वन्यजीव संरक्षण संस्था ने अजगर को सुरक्षित बाहर निकाल कर उसे जंगल में छोड़ दिया है। अगर समय पर टीम नहीं आती तो शायद सांप की दबकर मौत भी हो सकती थी।
इस वजह से शहरी स्थानों पर रहे हैं सांप
Wildlife  एसओएस के सीईओ और सह-संस्थापक कार्तिक सत्यनारायण ने बताया कि उनकी टीम समय रहते मुसीबत में फंसे जानवरों और लोगों की मदद कर रहा है। Wildlife  एसओएस का लक्ष्य लोगों में सांपों को लेकर फैली गलत धारणा को खत्म करना है। ऐसी स्थिति में लोगों को घबराना नहीं चाहिए और सांपों को हानि पहुंचाए बिना उकने प्रति संवेदनशीलता दिखानी चाहिए। तापमान में गिरावट के चलते ये सरीसृप शहरी स्थानों में आश्रय लेने के लिए मजबरू हैं।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -webmorcha.com webmorcha.com

Most Popular

Recent Comments