सड़क पर बने गड्ढे राहगीरों के लिए बना मुसीबत, दुर्घटनाओं को दे रहा आमन्त्रण ना जाने विभाग और सत्ता में मदहोश जनप्रतिनिधि कब जागेंगे : पप्पू पटेल

0
31

तुमगांव। तुमगांव सिरपुर भाजपा मंडल अध्यक्ष व नगर पंचायत तुमगांव के उपाध्यक्ष पप्पू पटेल ने  जिला कलेक्टर व लोक निर्माण विभाग के अधिकारी से मिलकर जर्जर सड़क को ठीक करने हेतु आवेदन दिया व मिला। जिला मुख्यालय से तुमगांव  पहुंच मार्ग  जिसकी दूरी लगभग 12 किलोमीटर है। मार्ग गारंटी अवधि में ही दम तोड़ चुकी है। पुरे मार्ग पर छोटे-बड़े खाईनुमा गड्ढे की भरमार है। साथ मे  ग्रामीण अंचल की  कई सड़कें खस्ताहाल हो चुकी है। मरम्मत के अभाव में सड़क दम तोड़ चुकी है। सड़क पर बने गड्ढे लोगों के लिए मुसीबत खड़ी कर रही है। जर्जर सड़क के चलते वाहन चालक आए दिन हादसे का शिकार हो रहे हैं। अगर हल्की बारिश हुई तो मार्ग पर चलना जोखिम भरा रहता है।

हम बात कर रहे हैं  सबसे व्यवस्तम मार्ग जो सराईपाली ,बसना,पिथौरा जिले के अंतिम छोर का नागरिक जिला मुख्यालय हर कार्य के लिए तुमगांव होते हुए आते है। जिसकी दूरी लगभग 12 किलोमीटर है। मार्ग कुछ ही माह पूर्व रिपेयरिंग हुवा था  गारंटी अवधि में ही दम तोड़ चुकी है। पुरे मार्ग पर छोटे-बड़े खाईनुमा गड्ढे की भरमार है। आलम यह है कि मार्ग पर डामर की परते उखड़ गई है। रास्ते पर गिट्टी का बिखराव की झलकियां दिख रही है, जिससे मार्ग पर चलना मुश्किल हो रहा है।  बारिश से रास्ते पर जलजमाव की स्थिति से मार्ग और भी खतरनाक रूप ले लिया है। इससे आए दिन वाहन चालक गड्ढों के जाल में फस कर चोटिल हो रहे हैं। इसका मुख्य कारण गांरटी अवधि होने के बाद भी मार्ग की मरम्मत नहीं हो पाना।

http://लांच हुआ शानदार Smartphone, 10 हजार रुपए से कम में 2 दिनों तक चलेगी बैटरी..जानिए खासियत

उपेक्षित होने के कारण मार्ग में जगह-जगह गड्ढे व नूकिले पत्थर झांकने लगी है, जिस पर हल्की बारिश से गड्ढे पर पानी का जमाव हो जाता है। ऐसे में इस मार्ग से आवागमन करने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। आसपास गांव के ग्रामीणों द्वारा कई बार जिला प्रशासन से लेकर जनप्रतिनिधियो को मार्ग की मरम्मत की गुहार लगा चुके हैं। लेकिन विभागीय उपेक्षा के चलते इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। तभी तो मार्ग की मरम्मत नहीं किया जा रहा है। और एक ओर जिला मुख्यालय में मुख्यमंत्री के आगमन के ठीक पहले शहर के सड़क को मरम्मत किया  केवल दिखाने के लिए।

दुर्घटना का कारण बन रहा जर्जर मार्ग

नगर सहित आसपास लोगों को मजबूरी वश इस मार्ग से आवागमन करना पड़ रहा है, जो कई बार दुर्घटना का कारण भी बन जाता है। वाहन चालक रात को आवागमन करते समय गिरकर चोटिल हो रहे हैं। जर्जर सड़क का हालत देखकर स्थानीय लोग में भारी रोष है। अगर बरसात से पहले मार्ग की मरम्मत हो जाता है तो आसपास के ग्रामीणों को आने जाने में परेशानी नहीं होती ।

मरम्मत की दरकार, विभाग का ध्यान नहीं

मार्ग इतना खराब हो गया है कि जगह जगह लंबे चौड़े खाईनुमा गड्ढे बन गए हैं। जहां पर गड्ढे नहीं है वहां पर गिट्टी, मुरुम व नुकिले पत्थर का बिखराव पड़ा है। अगर हल्की बारिश हुई तो मार्ग और भी खतरनाक रूप ले लेती है, जिससे रात को आवागमन करते वाहन चालक गिरकर चोटिल हो रहे हैं। ऐसे में अब तक मार्ग की मरम्मत नहीं होना समझ से परे है।