ADG के बंगले से निकल रहा जादू-टोने की बात… डायरी में लिखा है, थाईलैंड से 20 पैर वाला कछुआ मंगवा चुका है बलि देने के बाद कुछ भी कर सकेगा

रायपुर। ADG  जीपी सिंह के राजधानी स्थित सरकारी बंगला में 54 घंटे से एसीबी की छापेमार कार्रवाई जारी है। बतादें, गुरुवार की सुबह 6 बजे टीम GP सिंह के सरकारी बंगले के भीतर प्रवेश की है। शनिवार की दोपहर तक टीम वहीं पर डेरा जमा कर बैठी है। जानकारी के अनुसार, विदेशों में खाते और निवेश संबंधी कई ऐसे अहम दस्तावेज मिले हैं जिनकी जांच GP सिंह के घर पर ही की जा रही है। बीते 54 घंटों से एडीजी GP सिंह अपने घर में बंद हैं। उनके साथ उनका बेटा और परिवार के अन्य सदस्य भी मौजूद हैं।

GP सिंह ने फोन पर कुछ लोगों से बात भी की है, लेकिन, ACB की नजर उन पर लगातार बनी हुई है। कुछ दस्तावेजों में अफसर और नेताओं के नाम भी मिलने की बात कही जा रही है। जानकारी के अनुसार, GP सिंह की अभी गिरफ्तारी नहीं होगी। आज छापे की कार्रवाई पूरी हो सकती है और ACB टीम बंगले से निकल सकती है।

तंत्र-मंत्र कराते थे GP सिंह!

जांच टीम के अधिकारियों को यहां से कुछ दस्तावेज और पुराने फटे पन्ने मिले हैं। इस डायरी में जादू-टोने से जुड़ी बातें लिखी हुई हैं। कुछ ऐसा अजीबो-गरीब सामान भी सिंह के यहां से मिला है जो अमूमन तंत्र-मंत्र के काम आया करता  है। एक डायरी में कोड वर्ड में कुछ अधिकारियों के बारे में अजीबो-गरीब बात लिखी हैं। जादू-टोने की बातें ये Police महकमे के ही बड़े अधिकारियों के बारे में हैं। डायरी में लिखा है- वह थाईलैंड से 20 पैर वाला कछुआ मंगवा चुका है।

उसकी बलि देने के बाद कुछ भी कर सकेगा। इनमें से एक अफसर का नाम “छोटा टकला” अंकित गया है। लिखा है कि छोटा टकला ने एक अफसर का बाल काट लिया है, इसलिए सब कुछ बिगाड़ सकता है। ऐसा अनुमान है कि छोटा टकला प्रदेश के ही एक सीनियर अफसर का कोड वर्ड है। ये बहरहाल, कई मामलों में फंसे हुए हैं और इनके खिलाफ जांच जारी है।

भ्रष्टचार: ADG सिंह का बेशुमार दौलत: संपत्ति, वाहनों, बैंक खाता, बीमा पॉलिसियों की तादाद देखकर हैरान रह गई टीम

दो और अधिकारियों के लिए अनोपचंद- तिलोकचंद अंकित

दो और अधिकारियों के लिए अनोपचंद- तिलोकचंद अंकित है। कुछ IAS अफसरों, सचिव स्तर के अफसरों, कांग्रेस-BJP के नेताओं का नाम भी कोड वर्ड में लिखा है। इन सभी दस्तावेज को बारीकी से जांच किया जा रहा है। एसीबी की जांच टीम को GP सिंह के विदेशी बैंकों में कई खातों की जानकारी मिली है। उन खातों की लिस्टिंग, रुपए कहां से आया किसने दिया, इन पहलुओं की जांच ACB की टीम कर रही है। कनाडा, ब्रिटेन और कुछ देशों में बसे परिजनों के माध्यम से निवेश की जानकारी की भी जांच हो रही है। शुक्रवार शाम तक की स्थिति में Odisha में संपत्ति, कंस्ट्रक्शन के काम में इस्तेमाल होने वाले आधा दर्जन वाहन, कई बैंक अकाउंट्स, 75 से अधिक बीमा पॉलिसी के सबूत टीम को मिले थे। ये सब GP सिंह उनकी धर्म पत्नी और उनके पुत्र के नाम पर हैं।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn