छत्तीसगढ़: फिर सुहाना होगा मौसम शुक्रवार से आगामी दो दिन गरज के साथ बौछारें

रायपुर। प्रदेश  सीमावर्ती पड़ोसी प्रदेशों में गुरुवार को चार सिस्टम प्रभावशील है। इन सिस्टम के असर से समुद्र से बड़ी मात्रा में‌ नमी बनी है। गुरुवार-शुक्रवार को प्रदेश के दक्षिण छत्तीसगढ़ के कुछ क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश और गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। लेकिन बादल आने से पहले, अर्थात गुरुवार को दोपहर तक राजधानी सहित प्रदेश में गुरुवार को जमकर गर्मी पड़ी है।

लालपुर मौसम केंद्र के मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा के मुताबिक, पश्चिम विदर्भ से अंदरूनी कर्नाटक होते हुए दक्षिण तमिलनाडु तक 0.9 किमी ऊंचाई तक एक द्रोणिका है। एक चक्रीय चक्रवाती घेरा पूर्वी मध्यप्रदेश और उसके आसपास 1.5 किमी ऊंचाई तक है। पूर्वी मध्यप्रदेश में स्थित चक्रीय चक्रवाती घेरा से गंगेटिक, वेस्ट बंगाल तक 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक एक द्रोणिका है। एक चक्रीय चक्रवाती घेरा दक्षिण-मध्य महाराष्ट्र और उसके आसपास 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक है।

Renault Triber और Datsun Go Plus कार पर कंपनी दे रही भारी डिस्काउंट, 45 हजार रुपए तक की कर सकते हैं बचत

इसका असर से 30 अप्रैल को छत्तीसगढ़ के एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा होने या गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ बिजली गिरने और अंधड़ चलने के आसार हैं। 1 मई से बारिश के क्षेत्र में वृद्धि हो सकती है।