देश/विदेशमेरा गांव मेरा शहर

फिर परमाणु युद्ध की आशंका बढ़ी, करोड़ों लोग हो जाएंगे तबाह, बदल जाएगी दुनिया की तस्वीर

रूस Russia  करेगा परमाणु बम से हमला? यूक्रेन ने ताबड़तोड़ गोलियां दाग एक और शहर पर वापस पाया नियंत्रण, इधर रमजान कादिरो के बयान के बार परमाणु हमले की आशंका बढ़ गई है।

Russia Ukraine War: रूस Russia और यूक्रेन के बीच 7 महीनो से जारी युद्ध में अब तक कई लोग मारे गए हैं. पिछले सात महीने पहले शुरू हुए युद्ध में रूस का दावा थी कि वह कुछ ही वक्त में इस युद्ध को जीत लेगा लेकिन ये दावा फीका पड़ता साबित हो रही है क्योंकि यूक्रेन इस युद्ध में रूस के कब्ज़े से अपने कई हिस्सों को वापिस ले चुका है. युद्ध के अंतिम नतीजे से सब बेखबर है कि अंत में क्या होगा.

 यूक्रेन ने लाइमैन पर पाया कब्ज़ा वापिस

बता दें कि शनिवार को यूक्रेनी सेना ने लाइमैन शहर (Lyman City) पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी जिससे रूसी सेना की आगे बढ़ने की हिम्मत नहीं हुई और वह शहर खाली करके भाग गए और इस तरह यूक्रेनी सेना ने लाइमैन शहर पर कब्ज़े को वापिस पा लिया. लाइमैन शहर यूक्रेन का प्रमुख परविहन केंद्र भी रहा है. अस शहर पर कब्ज़ा वापिस पाकर सड़र मार्ग के ज़रिए अपने बलों को रसद की आपूर्ति कर दी थी.

परमाणु बम की तैयारी में रूस!

यूक्रेन के ज़बरदस्त हमले से रूसी सेना के पीछे हटने से चेचन्या का कमांडर रमज़ान कादिरोव (Ramzan Kadyrov) गुस्से में बौखला गया है.  लाइमैन से कब्ज़ा हाथ से छीनने के बाद रूसी सेना के शीर्ष कमांडर्स को खराब प्लानिंग पर फटकार लगाई. ऐसे में कादिरोव ने टेलीग्राम पर लिखा, “मेरी व्यक्तिगत राय में, अब सीमा पर अधिक कठोर उपाय किए जाने चाहिए. इसमें कम क्षमता वाले परमाणु बमों के इस्तेमाल और मार्शल लॉ की घोषणा भी शामिल है. इस जंग को लंबे वक्त तक खींचने का कोई फायदा नहीं है.” इसके साथ ही रूसी राष्ट्रपति पुतिन को सलाह दी कि इस युद्ध को जल्द से जल्द खत्म करने के लिए उन्हें परमाणु बम का इस्तेमाल करना चाहिए.

रमजान कादिरो के बयान से बढ़ी टेंशन

यूक्रेन पर रूस की पकड़ कमजोर पड़ती जा रही है। ऐसे में रूसी सेना की ओर से यूक्रेनी सीमा में परमाणु हमले का खतरा बना हुआ है। इस बीच चेचन रिपब्लिक के नेता रमजान कादिरोव ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से यूक्रेन में ‘कम क्षमता वाले’ परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करने की मांग की है।

कादिरोव ने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि सुप्रीम कमांडर-इन-चीफ को डिफेंस मिनिस्ट्री क्या रिपोर्ट करती है, लेकिन मेरी निजी राय है कि यह कड़े फैसले लेने का वक्त है। बॉर्डर से लगे इलाकों में मार्शल लॉ घोषित कर देना चाहिए और कम क्षमता वाले परमाणु हथियार इस्तेमाल किए जाने चाहिए। वेस्टर्न अमेरिकन कम्युनिटी को ध्यान में रखकर हर फैसला लेने की जरूरत नहीं है।’

यदि गिरा परमाणु तो 30 मिनट में 10 करोड़ मौतें, 18 हजार साल पीछे हो जाएगी दुनिया

रूस ने लाइमैन से सैनिकों को वापस बुलाया

गौरतलब है कि यूक्रेनी सैनिकों की ओर से घेरे जाने के बाद रूस ने अपने कब्जे में रहे पूर्वी शहर लाइमैन से अपने सैनिकों को वापस बुला लिया, जिसका इस्तेमाल मॉस्को ठिकाने के रूप में कर रहा था। जवाबी हमलों की कड़ी में यह यूक्रेन के लिए एक और जीत व रूसी बलों के लिए शर्मिंदगी वाली बात है। इसके साथ ही इससे रूस का गुस्सा और बढ़ गया है। रूसी रक्षा मंत्रालय ने लाइमैन से रूसी सैनिकों के वापस हटने की घोषणा की लेकिन कहा कि अतिरिक्त संख्या में तैनात सैनिकों को और जगहों पर तैनात किया जाएगा।

लाइमैन यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खारकीव से 160 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में है। यूक्रेन की सेना ने जवाबी हमलों में रूस के कब्जे से विशाल क्षेत्र छुड़ा लिया है। प्रमुख परिवहन केंद्र लाइमैन जमीनी संचार और रसद दोनों के हिसाब से रूस के लिए महत्वपूर्ण स्थल रहा था। अब रूस के हाथ से इसके निकल जाने से यूक्रेनी सैनिक लुहांस्क क्षेत्र में आगे तक बढ़ने की कोशिश कर सकते हैं, जो रूस की ओर से जनमत संग्रह के जरिए अपनी भूमि में मिलाए गए चार क्षेत्रों में से एक है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रूस के जनमत संग्रह की काफी निंदा की जा रही है।

https://www.facebook.com/webmorcha

 

Related Articles

Back to top button
बेहद ग्लैमरस हैं बालिका वधू की ‘गहना’, सिर्फ शर्ट पहनकर खिंचवा ली ऐसी तस्वीर ‘बिग बॉस’ की इस हसीना ने कैमरे के सामने खोले टॉप के बटन, फिर की ऐसी हरकत Ghum Hai Kisikey Pyaar Meiin: पूरे परिवार के सामने सई, विराट और पाखी की खोलेगी पोल, शो में मचेगा बवाल Alia Aamir समेत इन बॉलीवुड सितारों ने बीच में ही छोड़ी पढ़ाई, लिस्ट में शामिल हैं चौंकाने वाले नाम मलाइका अरोड़ा के नए क्लासिक अंदाज से इंटरनेट पर मची हलचल