ओडिशा-छत्तीसगढ़ में 5 सितंबर से व्यापक बारिश के आसार…बारिश हुई तो सूखे की मार झेल रहे किसानों को मिलेगी राहत

0
899
webmorcha.com
बारिश छत्तीसगढ़ अलर्ट नमस्ते

रायपुर। छत्तीसगढ़ में मानसून सिस्टम एक बार फिर सक्रिय होने लगा है और अब अच्छी बारिश होने के आसार बन रहे हैं। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि पांच सितंबर से प्रदेश में व्यापक बारिश के आसार हैं। इस साल अब तक की स्थिति में प्रदेश में मानसून की बेरुखी बनी हुई है। वहीं छत्तीसगढ़ से सटे ओडिशा में 6 और 7 सितंबर को वज्रपात के साथ भारी बारिश (Heavy Rainfall) होने की संभावना है. ओडिशा में दो दिनों की झमाझम बारिश से किसानों को बड़ी राहत मिल सकती है. हालांकि, प्रदेश में धान की फसल के लिए अत्याधिक बारिश नुकसान दायक साबित हो सकती है.

ओडिशा में भारी बारिश की चेतावनी

Heavy Rain Alert in Odisha: ओडिशा में मॉनसून की गतिविधियों के बीच अगले दो दिनों में उत्तर-पश्चिम और मध्य बंगाल की खाड़ी में कम दवाब का क्षेत्र बनेगा. जिसकी वजह से राज्य में 6 और 7 सितंबर को वज्रपात के साथ भारी बारिश (Heavy Rainfall) होने की संभावना है. प्रदेश में दो दिनों की झमाझम बारिश से किसानों को बड़ी राहत मिल सकती है.

भारतीय मौसम विभाग के भुवनेश्वर के वैज्ञानिक उमाशंकर दास ने आजतक से खास बातचीत में बताया कि मॉनसून सीजन के दौरान 6 सितंबर को उत्तर-पश्चिम और मध्य बंगाल की खाड़ी में कम दवाब का क्षेत्र बन सकता है. जिसके कारण ओडिशा के तटीय (Coastal) व आंतरिक (Interior) जिलों में 6 और 7 सितंबर को भारी बारिश होने की संभावना है.

बरगढ़, अंगुल, नुआपड़ा, कालाहांडी में भारी बारिश की चेतावनी

वैज्ञानिक दास ने बताया कि तटीय इलाके में भद्रक, बालासोर, जजपुर, केंद्रपाड़ा, जगतसिंगपुर, खुर्दा, पुरी, कटक, गंजाम और गजपति जिले शामिल हैं. जबकि आतंरिक ओडिशा के झारसुगुड़ा, संबलपुर, सुंदरगढ़, बरगढ़, अंगुल, नुआपड़ा, कालाहांडी और नबरंगपुर जिलों में भी भारी बारिश होने की आशंका जताई गई है.

दास ने कहा कि खेतों में फसलों की सिंचाई कर रहे किसानों को दो दिनों की भारी बारिश से मिल सकता है. साथ ही किसानों को खेतों में काम करने में आसानी होगी. हालांकि, प्रदेश में धान की फसल के लिए अत्याधिक बारिश नुकसान दायक साबित हो सकती है.

आयरलैंड: लेडी ने कुत्ते के साथ बनाए SEX संबंध, कोर्ट दे सकता है सजा; जानिए क्या है माजरा

ओडिशा के 24 जिले में कम बारिश

दास ने बताया कि मॉनसून के दौरान प्रदेश में 1 जून से 3 सितंबर के बीच केवल 671 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है. जो सामान्य बारिश 935 मिलीमीटर से औसतन 30 प्रतिशत कम बारिश हुई है. इस दौरान राज्य के 24 जिलों में किसानों को कम बारिश की वजह से परेशानियों का समाना करना पड़ा है. हालांकि, उम्मीद है कि आगामी दो दिनों की भारी बारिश से किसानों को राहत मिलेगी।

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123