देश/विदेशमेरा गांव मेरा शहर

50 साल पहले भी थी महंगाई और आज भी महंगाई, बदला तो सिर्फ राजनीति

महंगाई को लेकर देशभर में आंदोलन किया जा रहा है। क्या वाकई ये राजनीति का हिस्सा है या फिर देश की समस्या ये तो राजनेता ही बता सकते हैं, लेकिन इतिहास के पन्नों को लौटाकर देखें तो 50 साल पहले भी महंगाई का दौर था और आज भी तहंगाई का दौर, फर्क इतना है कि उस समय राजनीति अलग थी।

48 साल पहले बने फिल्म रोटी कपड़ा और मकान जो उस समय का ब्लॉकबास्टर फिल्म है। इसमें मुख्य रूप से मनोजकुमार और मौसमी चटर्जी ने किरदार निभाया है। इस फिल्म में उस समय महंगाई को लेकर गीत गया जिसमें…बाकी कुछ बचा तो महंगाई मार गई उस समय कि हिट गाना में से एक है। इस गीत को सुनने से तो यही लगता है कि जहां हम खड़े थे आज भी वहीं खड़ें हैं।

सूने 48 साल पहले का गीत

 

webmorcha.com
महंगाई, बेरोजगारी पर कांग्रेस का देशव्यापी हल्लाबोल

महंगाई, बेरोजगारी पर कांग्रेस का देशव्यापी हल्लाबोल, नई दिल्ली में हिरासत में लिए गए राहुल गांधी, महंगाई और बेरोजगारी पर देशव्यापी हल्लाबोल शुरू करने से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स को संबोधित करते हुए कहा कि मौजूदा दौर में हम लोकतंत्र की मौत देख रहे हैं. उन्होंने कहा कि भारत ने लगभग एक सदी पहले जो कुछ भी ईंट-पत्थरों से बनाया था, वह आपकी आंखों के सामने नष्ट किया जा रहा है.

यहां सूने वर्तमान में बन रहे गीत

कांग्रेस सांसदों ने महंगाई और बेरोज़गारी पर अपना विरोध दर्ज कराने के लिए संसद से राष्ट्रपति भवन तक जाने के लिए मार्च निकाला. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी भी मार्च में शामिल हुए, हालांकि मार्च को विजय चौक पर रोक दिया गया और सांसद वहीं धरने पर बैठ गए. इसके बाद पुलिस ने राहुल गांधी समेत कई नेताओं को हिरासत में ले लिया.

भारत में तेजी से बढ़ रहा महंगाई, 13 दिन में पेट्रोल-डीजल 8 रुपए की बढ़ोत्तरी

Related Articles

Back to top button