ये है छत्तीसगढ़ का भ्रष्ट अफसर….ACB चीफ रहने के दौरान ADG जीपी सिंह ने ब्लैकमेल कर करोड़ों कमाए, मनी लॉन्ड्रिंग और Odisha में बेनामी संपत्ति के सबूत मिले

रायपुर। प्रदेश के सीनियर आईपीएस और एडीजी रैंक के अफसर GP सिंह के खिलाफ FIR दर्ज हुई है। एसीबी ने गुरुवार दिनभर रायपुर राजधानी, राजनांदगांव, Odisha के कुल 15 जगहों पर छापेमारी कर जांच की। फिर देर रात जांच अफसरों ने बताया कि सिंह के सरकारी बंगले के साथ अलग-अलग स्थानों पर करोड़ों की अवैध संपत्ति, बड़े लेन-देन, शेल कंपनियों में निवेश करके मनी लॉन्ड्रिंग के सबूत ACB मिले हैं। इनके आधार पर अब अफसर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। अफसरों ने बताया कि आईपीएस सिंह की रायपुर राजधानी के भिलाई राजनांदगांव और Odisha में भी कई स्थानों पर बेनामी संपत्तियों की पुष्टि हुई है। ODisha की खदानों में GP सिंह का पैसा भी लगा है।

GP सिंह के चीफ रहते हुए कारनामा

एडीजी GP सिंह वर्तमान में छत्तीसगढ़ पुलिस में Police एकेडमी को देख रहे हैं। इससे पहले वे खुद एसीबी के चीफ रह चुके हैं। एसीबी के मौजूदा अफसरों ने बताया कि GP सिंह के खिलाफ अवैध वसूली, ब्लैकमेलिंग के जरिए करोड़ों की प्रॉपर्टी बनाई गई है, इसकी लगातार शिकायतें मिल रही थीं। इसके बाद एसीबी ने जांच प्रारंभ की। कई महीनों तक खूफिया जांच के बाद टीम ने गुरुवार को छापा मारा और अब अफसर पर मामला दर्ज हो चुका है। बताया जा रहा है कि जब GP सिंह एसीबी प्रमुख थे, तब भ्रष्ट अफसरों को कार्रवाई का डर दिखाकर उन्हें ब्लैकमेल किया और रुपए वसूल किए थे।

रायपुर: मुसलाधार बारिश के बीच शिक्षक भर्ती के उम्मीदवार ने किया प्रदर्शन देखें वीडियों

एडीजी GP सिंह के घर पर छापा मारने वाली टीम के अधिकारियों ने साफ कर दिया है कि गुरुवार की रात जांच अधिकारी GP सिंह के ही घर पर बिता सकते हैं। ये जांच शुक्रवार को भी चलेगी। अधिकारियों ने ये भी कहा कि अब तक मिले सबूत के आधार पर बहरहाल, एडीजी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। संभवत: शुक्रवार को इस मामले में और खुलासा किया जाएगा। इसलिए कि जांच अब तक पूरा नहीं हो पाया है। एसीबी की टीम ने गुरुवार को सुबह 6 बजे जीपी सिंह के ठिकानों पर छापा मारा, जो अब तक जारी है।