ज्योतिष/धर्म/व्रत/त्येाहारमेरा गांव मेरा शहर

इस साल का पुष्य नक्षत्र आज, वाहन, जमीन या फिर कीमती वस्तुएं खरीदने का है विचार तो आज कर लें वह काम

इस वर्ष के पहले पुष्य नक्षत्र योग का प्रारंभ 18 जनवरी अर्थात आज मंगलवार से हो रही है। मंगलवार होने से ये भौम पुष्य माना जाएगा।‎ 27 नक्षत्रों में पुष्य को सबसे अधिक शुभ‎ माना जाता है। इस नक्षत्र को तिष्य और‎ अमरेज्य भी कहते हैं।

इस साल का पुष्य नक्षत्र आज, मंगल पुष्य का अद्भूत संयोग बना हुआ है। वार और नक्षत्र के इस संयोग से वर्धमान नाम का शुभ योग भी होगा। बतादें, पुष्य नक्षत्र माह में एक बार आता है। पुष्य नक्षत्र शुभ कार्य और खरीदारी के लिए बहुत ही श्रेष्ठ रहता है। इसके संयोग वाला दिन को समृद्धि कहते हैं।

शुभदायक है पुष्य नक्षत्र में की गई खरीदारी

शास्त्रों के मुताबिक, पुष्य नक्षत्र में की गई खरीदारी और बिक्री बहुत ही शुभकारी माना गया है। इसी कारण इस दिन लोग खरीदारी करते हैं।‎ इस वर्ष के पहले पुष्य नक्षत्र योग का प्रारंभ 18 जनवरी अर्थात आज मंगलवार से हो रही है। मंगलवार होने से ये भौम पुष्य माना जाएगा।‎ 27 नक्षत्रों में पुष्य को सबसे अधिक शुभ‎ माना जाता है। इस नक्षत्र को तिष्य और‎ अमरेज्य भी कहते हैं।

माघ माह का पहला दिन इन राशियों पर मंगल की होगी बेहद कृपा

शनि और गुरु का नक्षत्र

ज्योतिष गणना के अनुसार, पुष्य को नक्षत्रों का राजा माना गया है। पुष्य नक्षत्र के स्वामी शनि देव होते हैं लेकिन देव गुरु को इस नक्षत्र के अधिष्ठाता देव माना जाता है। जब चंद्रमा अपनी राशि अर्थात कर्क में आता है तो कर्क राशि में 3 अंश 40 कला से 16 अंश 40 कला तक पुष्य नक्षत्र होता है।

जानिए इस साल पुष्य नक्षत्र की तारीखें

18 जनवरी        मंगल पुष्य

14-15 फरवरी सोम और मंगल पुष्य

14 मार्च            सोम पुष्य

10 अप्रैल          रवि पुष्य

7-8 मई            शनि और रवि पुष्य

4 जून   शनि पुष्य

1 जुलाई            शुक्र पुष्य

28 जुलाई         गुरु पुष्य

24-25 अगस्त  बुध और गुरु पुष्य

21 सितंबर        बुध पुष्य

18 अक्टूबर      मंगल पुष्य

14-15 नवंबर   सोम और मंगल पुष्य

12 दिसंबर        सोम पुष्य

Related Articles

Back to top button