जिन्हें है शनि का प्रकोप साल के अंतिम शनिवार को करें ये उपाय, मिलेगी निजात

साल बीतने को कुछ ही दिन बचें हैं, किसी के यह साल अच्छा रहा तो कुछ के लिए खराब रहा। आइए जानते हैं शनि के प्रकोप से बचने के लिए साल का अंतिम शनिवार बहुत खास है. इस दिन एक विशेष योग बन रहा है, जो शनि की बुरी नजर से बचने के लिए उपाय करने का शानदार तरीका है।

ज्योतिष शास्त्र में शनि को सबसे क्रूर ग्रह के रूप में माना गया है। शनि प्रकोप से मनुष्य ही नहीं देवता भी डरते हैं. जिंदगी सही तरीके से चलती रहे इसके लिए इस ग्रह की नाराजगी से बचे रहना जरूरी है. ज्‍योतिष के अनुसार, यदि ग्रह यदि अशुभ हो तो इससे बचने के लिए सबसे जल्‍दी उपाय कर लेने चाहिए।

इस जातक पर शनि का साया

शनि देव हर ढाई वर्ष के अंतराल पर एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं। ऐसे में वर्ष 2021 में शनिदेव का कोई भी राशि परिवर्तन नहीं होगा। क्योंकि शनिदेव साल 2020 में आने वाले ढाई वर्षों के लिए धनु राशि को छोड़कर मकर राशि में मौजूद होंगे। जहां पर यह 29 अप्रैल साल 2022 तक रहेंगे। यही कारण है कि साल  2021 में धनु, मकर और कुंभ राशि पर साल 2021 में शनि की साढ़ेसाती या ढैय्या होगी।

शनि ग्रह एक राशि में ढाई साल तक रहता है। साल 2021 में वह एक राशि में बीते साल से ही गोचर कर रहा है इसके कारण चार राशियों पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है। आइए जानते हैं कि किस राशि पर रहेगा 2022 तक शनि का साया और क्या हो सकते हैं इसके उपाय।

25 दिसंबर को बन रहा विशेष योग

शनि देव को खुश करने के लिए इस वर्ष के जाते-जाते एक विशेष अवसर मिल रहा है. 25 दिसंबर 2021 को एक विशेष संयोग बना है जो शनि के प्रकोप से निजात दिलाएगी। 25 दिसंबर 2021 को शनिवार है, साथ ही इस दिन पौष महीने के कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि है. इस दिन चंद्रमा सिंह राशि में पर मौजूद रहेंगे. इसके साथ सुबह 11:23 मिनट तक प्रीति योग बन रहा है. इसके बाद इसी दिन आयुष्मान योग भी  है. ये दोनों शनि देव की पूजा के लिए बहुत ही शुभ माने गए हैं. इस दिन की गई शनिदेव की पूजा और उपाय आम दिनों की तुलना में कहीं अधिक फल देते हैं.

ऐसे पड़ता है शनि का असर

शनि की साढ़ेसाती के पहले चरण में शनि जातक की आर्थिक स्थिति पर, दूसरे चरण में पारिवारिक जीवन और तीसरे चरण में स्वास्थ्य पर सबसे अधिक असर डालता है। ढाई-ढाई वर्ष  के इन 3 चरणों में से दूसरा चरण सबसे भारी पड़ता है।

मकर राशि के जातक पर असर

शनि बीते साल से ही मकर राशि में गोचर कर रहे हैं। इस राशि के जातकों पर शनि की साढ़े साती का दूसरा चरण चल रहा है। ऐसे में इस रा‍शि के जातकों को बहुत ही अलर्ट और सावधान से रहना होगा। इसलिए कि शनि के प्रकोप के कारण धन-संपत्ति, परिवार से जुड़ी समस्याएं आ सकती है। किसी के द्वारा धोखा मिल सकता है या आपके सभी कार्य असफल हो सकते हैं। मतलब किये कराए पर पानी फिर सकता है।

मीन राशि पर शुरू होने वाली है साढ़े साती शनि, जानें कब मिलेगी छूटकारा

जानिए उपाय

जिन लोगों की कुंडली में शनि अच्‍छी स्थिति में हैं उन्हें चाहिए कि इस समय का लाभ उठाएं और अच्छे काम करें।

जिन लोगों की कुंडली में शनि खराब  स्थिति में है उन्हें अपने कर्मों पर ध्यान देना होगा। किसी भी तरह के अनैतिक और गलत कार्य से बचना चाहिए। यदि कर्म अच्छे हैं तो डरने की जरूरत नहीं है। अर्थात इस दौरान मकर राशि के जातकों को उनकी कुंडली में शनि की स्थिति और अपने कर्मों के आधार पर शनि का असर झेलना होगा।

इन बातों से बचने का प्रयास करें

ब्याज का धंधा करना, वाइन पीना, दूसरे स्त्री के बारे में गलत सोचना, अंधे, गरीब और सफाईकर्मी का अपमान करना, गाली बकना, धर्म का अपमान करना और गृहकलह करना आपको भारी पड़ सकता है।

प्रत्येक शनिवार को छाया दान करें। अर्थात एक कटोरी में सरसों का तेल डालकर उसमें अपना चेहरा देंखे और उसे कटोरी सहित शनि मंदिर में दान कर दें। इसके साथ शनि से संबंधित अन्‍य चीजों का दान कर सकते हैं।

https://twitter.com/WebMorcha

https://www.facebook.com/webmorcha

https://www.instagram.com/webmorcha/

Back to top button