कोमाखानमहासमुन्द

मांगों को लेकर शासकीय विभागों में कार्यरत हजारों कर्मचारियों ने 16 जुलाई से दी आंदोलन की चेतावनी  

महासमुंद। मांगों को लेकर शासकीय विभागों में कार्यरत नियमित कर्मचारियों के संविदा दैनिक वेतन भोगी कलेक्टर दर प्लेंसमेंट अंशकालिन जॉब दर संयुक्त महासंघ द्वारा पूर्व में सौपे गए ज्ञापन के संबंध में अब तक मांगों को लेकर शासन द्वारा किसी भी प्रकार सकारात्मक पहल नहीं होने के कारण अनियमित कर्मचारियों में बेहद नराजगी है। इस कारण छत्तीसगढ़ संयुक्त प्रगतिशील कर्मचारी महासंघ के आव्हान पर 16 जुलाई से जिले के समस्त विभागों में कार्यरत अनियमित अधिकारी कर्मचारी द्वारा अनिश्चितकालिन क्रमिक हड़ताल करने का मन बनाया है।

यहां पढ़े: http://किसानों के कर्ज माफ सहित विभिन्न मांगों को लेकर कांग्रेस ने तहसील परिसर का किया घेराव

इन मांगों को लेकर किया जा आंदोलन

  • समस्त अनियमित संविदा दैनिक वेतन भोगी कलेक्टर दर केंद्र व राज्य की योजनाओं में कार्यरत मानदेय पर कार्यरत प्लेसमेंट अंशकालिन जॉब दर स्थानीय प्रशासनिक सेवाओं तथा अन्य किसी भी विधि से नियुक्त शासकीय अर्धशासकीय कार्यलयों के अधिकारियों को नियमित किया जावे।
  • प्रत्येक साल शासकीय स्वीकृत बजट के नाम पर सेवा वृद्धि एवं सेवा से पृथक किए जाने का भय समाप्त कर 62 वर्ष की आयु तक वृत्ति सुुरखा प्रदान की जावे।

यहां पढ़े: http://कल्पेश जी ने कहा मेहनत, सपना, लगन, होगा, होने वाली है ऐसी बाते अब अखवारों के लिए बेमतलब

  • विगत 2-3 साल से जिन योजनाओं आबंटन शासन से विभागों में लिया जा रहा हो, लेकिन कर्मचारियों को सेवा सेे पृथक किया गया हो अथवा छटनी की गई हो उन्हें सेवा में बेहाल किया जावे।

यहांं पर पढ़े: http://संवेदना जब मां बनने सरकारी अस्पताल में तड़फती रही प्रसुता

  • शासकीय सेवाओं में आउट सोर्सिग ठेका प्रथा को पूर्णत: समाप्त किया जावे, और वर्तमान में कार्यरत को उन्हें शासकीय सेवा का दर्जा दिया जावे, तथा समान कार्य समान वेतन लागू किया जावे।

यहां पढ़ें: http://सीएम की कृपा सरकारी खजाने से भाजपा कार्यकर्ताओं को स्वच्छानुदान

ऐसे दिए चेतावनी

  • 16 से 18 जुलाई तक जिले के पूर्ण काम बंदी रखकर हड़ताल किया जावेगा।
  • 19 जुलाई से 22 जुलाई तक संभाग स्तर पर हड़ताल किया जावेगा।

http://मंदिर में चल रहा था ज्ञान दर्शन, मिली संवेदना भरी खबर, पढ़िए कुआंरी अभागन की एक रात

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button