Wednesday, March 3, 2021
Home Web Morcha आज ज्योतिष में बन रहा अद्भूत योग, एक ही राशि में होंगे...

आज ज्योतिष में बन रहा अद्भूत योग, एक ही राशि में होंगे 6 ग्रह, क्या? बनेगी मुसीबत

ज्योतिष शास्त्रों की मानें तो ग्रहों की चाल का हमारे जीवन पर प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष असर साफतौर पर नजर आता है और 9 फरवरी 2021 को ग्रहों का विचित्र संयोग देखने को मिल रहा है. 59 साल बाद एक ही राशि में एक साथ 6 ग्रहों का महा मिलन होने जा रहा है. ज्योतिष विद्या (jyotish) की एक शाखा मेदिनी ज्योतिष (Medini Jyotish) में कहा गया है कि जब भी किसी एक राशि में सूर्य, गुरु, शनि, बुध और चन्द्रमा जैसे 5 या इससे अधिक ग्रह (राहु-केतु) एक साथ आते हैं तब देश-दुनिया में बड़े बदलाव देखने को मिलते हैं.

यहां पढ़ें: कल की बात आज

बतादें, मकर राशि में सूर्य, गुरु, शनि, मंगल, बुध और शुक्र ग्रह एक राशि में एक साथ आने वाले हैं। ऐसे में किसी युद्ध या बड़े जन-आंदोलन जैसी घटना बन सकती है। एक ही राशि में अधिक कई ग्रहों की मिलन का वर्णन नारद मुनि रचित “मयूर चित्रम” में भी अंकित है।

यहां पढ़ें: बाबा वेंगा का 2021 में डराने वाला भविष्यवाणी, जानिए 3005 तक कब, कैसे, कहां क्या होगा

इससे पूर्व साल 1962 में बना था ये विचित्र संयोग

इससे पहले ऐसा विचित्र महासंयोग साल 1962 में हुआ था, तब मकर राशि में 7 ग्रहों की युति बनी थी। ज्योतिष विज्ञान के अनुसार, इसी संयोग के कारण अमेरिका और सोवियत रूस तब क्यूबा मिसाइल संकट के चलते एक-दूसरे से उलझ गए थे और तीन दशक तक शीत युद्ध की स्थिति बनी हुई थी। इसके बाद साल 1979 के सितंबर माह में सिंह राशि में 5 ग्रहों का योग हुआ था, जिसके कारण ईरान में इस्लामिक क्रांति हुई थी और मुस्लिम जगत में उथल-पुथल मच गई थी। इसी के चलते अफगानिस्तान, पाकिस्तान और भारत जैसे देशों में इस्लामिक आतंकवाद का प्रसार हुआ था। वहीं हाल ही में साल 2019 में भी 26 दिसंबर को धनु राशि में सूर्य ग्रहण के समय 5 ग्रहों के योग के चलते कोरोना वायरस महामारी और आर्थिक मंदी जैसी मंजर सामने आया था।

यहां पढ़ें: 2021 के लिए नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियां: 2020 से होगा खतरनाक, जॉम्बी की होगी Entry , आएगा महाप्रलय और होगी ये बड़ी घटना

10 फरवरी की रात से 12 फरवरी तक

ज्योतिषियों के अनुसार, 09 फरवरी को मकर राशि में 6 ग्रहों की युति एक बार फिर देश और विश्व में बड़े बदलाव देखें जा सकते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार, 12 फरवरी की अमावस्या की कुंडली को देखने से पता चलता है कि तुला लग्न की कुंडली के चतुर्थ भाव में शनि, गुरु, बुध, शुक्र, चंद्रमा और सूर्य की युति बनने से षड्ग्रही योग बन रहा है। ऐसे में आशंका है कि किसान आंदोलन और अधिक उग्र हो सकता है। मेदिनी ज्योतिष के अनुसार, मकर राशि, शनि और चंद्रमा का कृषि व किसानी संबंधित कार्यों व किसानों से विशेष संबंध होता है। इसके साथ चीन की ओर से भी किसी बड़े खतरे या संकट का सामना का दौर से गुजरना पड़ सकता है।

 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
webmorcha.com

11411/ 47
webmorcha/com
11398/ 70

Most Popular

Recent Comments