अभी नहीं टली मुसीबत : भारत में 2 सप्ताह और बढ़ सकता है Lockdown

नई दिल्ली। भारत में आने वाले दो सप्ताह के लिए और बढ़ सकता है लॉकडाउन। हालांकि इस पर आधिकारिक घोषणा सामने नहीं आई है, लेकिन अरविन्द केजरीवाल ने ट्‍वीट कर कहा है कि प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन बढ़ाने का सही निर्णय लिया है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली के मुख्‍यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने 30 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की थी।

एएनआई ने भी सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि प्रधानमंत्री के साथ बैठक में शनिवार को ज्यादातर मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन बढ़ाने की वकालत की थी, जिस पर केन्द्र सरकार विचार कर रही है। इस बात की पुष्टि मुख्‍यमंत्री केजरीवाल ने ट्‍वीट कर की है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने लॉकडाउन बढ़ाने का सही फैसला लिया है। उन्होंने का कि भारत की स्थिति विकासशील देशों की तुलना में काफी अच्छी है, क्योंकि हमने लॉकडाउन का फैसला जल्दी ले लिया था।

वाह! माता-पिता ने बच्चे का नाम ‘लॉकडाउन’ और बच्ची का नाम ‘कोरोना’ रखा

प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्‍यमंत्रियों के साथ बैठक में अपने राष्ट्र के नाम संबोधन का हवाला देते हुए कहा कि मैंने अपने संबोधन में कहा था कि लोगों की जिंदगी बचाने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग बहुत महत्वपूर्ण है।देश के अधिकतर लोगों ने बात को समझा और घरों में रहकर दायित्व निभाया। उन्होंने कहा कि अब भारत के उज्जवल भविष्य के लिए, समृद्ध और स्वस्थ भारत के लिए जान भी जहान भी, दोनों पहलुओं पर ध्यान आवश्यक है, जब देश का प्रत्येक व्यक्ति जान भी और जहान भी, दोनों की चिंता करते हुए अपने दायित्व निभाएगा, सरकार और प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पालन करेगा।

दिल्‍ली के CM केजरीवाल ने TWEET किया- PM ने Lockdown बढ़ाने का फैसला लिया

मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन को लेकर बड़ी बात कही है. उन्‍होंने ट्वीट कर कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया है. हालांकि केंद्र सरकार की तरफ से ऐसा कोई आधिकारिक बयान अभी तक नहीं आया है. केजरीवाल ने कहा कि भारत ने वक्‍त रहते लॉकडाउन का बहुत ही बेहतरीन फैसला लिया. ऐसे में अभी यदि लॉकडाउन खोल दिया गया तो सारी मेहनत बेकार हो जाएगी. उन्‍होंने कहा कि पीएम मोदी ने लॉकडाउन बढ़ाने का निर्णय उचित ही लिया है. हम लोगों ने लॉकडाउन लागू करने का फैसला जल्‍दी ही ले लिया था, लिहाजा बाकी मुल्‍कों की तुलना में हमारी स्थिति अच्‍छी है. यदि इसको अभी खत्‍म कर दिया जाएगा तो अभी तक की सारी मेहनत पर पानी फिर जाएगा. लिहाजा लॉकडाउन को बढ़ाना अनिवार्य है।

 

दर्द : 60 वर्षीय बुजुर्ग बीते 4 दिनों से नाव में ही काट रहा क्वारंटाइन डे!

कोरोना संक्रमण के 7447 मरीज, पिछले 24 घंटे में 40 लोगों की मौत: स्वास्थ्य मंत्रालय

देशभर में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है. देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 7447 हो गई है. इस महामारी से अब तक 239 लोगों की मौत हो चुकी है. 642 मरीज ठीक हुए हैं. पिछले 24 घंटे में 40 लोगों की मौत हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने यह जानकारी दी. अग्रवाल ने बताया, “कोरोना के खिलाफ भारत की सोच प्रोएक्टिव रही है. देश में 1 लाख से ज्यादा बेड कोरोना मरीजों के लिए उपलब्ध हैं. कोरोना के इलाज के लिए 586 अस्पताल बनाए गए हैं. अस्पतालों में मास्क, कवरॉल की पर्याप्त व्यवस्था की जा रही है.अग्रवाल ने बताया, “स्थिति के आधार पर हमने काम किया है. राज्यों के साथ पीपीई और एन95 मास्क के साथ वेंटिलेटरों को लेकर काम चल रहा है. आज प्रधानमंत्री ने राज्यों के मुख्यमंत्री से बात की है.

इंडिया में बढ़ा कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा, ICMR की रिपोर्ट में खुलासा

WHO की चेतावनी, लॉकडाउन हटाना होगा खतरनाक

जिनेवा। कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप को देखते हुए जहां भारत सरकार गंभीरता से लॉकडाउन को बढ़ाने पर विचार कर रही है, वहीं दुनिया के कुछ देशों ने इसमें ढील देने का फैसला लिया है. चीन ने तो 76 दिनों के बाद लॉकडाउन को पूरी तरह से हटा लिया है. हालांकि, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने ऐसे सभी देशों को चेतावनी दी है. उसका कहना है कि यदि लॉकडाउन जैसे कड़े उपायों को हटाया गया, तो स्थिति सुधरने के बजाये बिगड़ सकती है.

क्या? चीन के लैब से फैला पूरे विश्व में कोरोना वायरस? ब्रिटिश को मिली खुफिया रिपोर्ट

WHO के महानिदेशक टेड्रोस अदनोम गेब्रेयसस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘हम सबकुछ सामान्य होता देखना चाहेंगे, लेकिन प्रतिबंध हटाना खतरनाक हो सकता है.कुछ यूरोपीय देश जैसे कि इटली, जर्मनी, स्पेन और फ्रांस में महामारी के फैलाव की रफ्तार में कमी आई है, लेकिन अफ्रीका के 16 देशों में कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा बढ़ा है. इसलिए मौजूदा वक्त में प्रतिबंधों में ढील का फैसला जोखिम भरा हो सकता है।

loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button