Sunday, January 17, 2021
Home Web Morcha छत्तीसगढ़: महासमुंद पलायन की दर्दभरी स्टोरी: बेटे की मौत पर पिता ने...

छत्तीसगढ़: महासमुंद पलायन की दर्दभरी स्टोरी: बेटे की मौत पर पिता ने प्रशासन से कहा… मेरे दूसरे बंधक परिवार को वापस लौटा दो…प्रशासन ने की त्वरित कार्रवाई

छत्तीसगढ़: महासमुंद जिले में पलायन को लेकर दर्दभरी स्टोरी सामने आई है। यहां एक पिता ने अपने बड़े बेटे के मौत के बाद दूसरे बंधक परिवार को प्रशासन से छूड़ाने अपील की है। हालांकि प्रशासन ने त्वरित कार्रवाई करते हुए बंधक परिवार को वापस ला रही है।
ऐसे है दर्दभरी स्टोरी….
पिथौरा बया-चेचरापाली निवासी बुजुर्ग पिता लक्ष्मण पिता इतवारू ने सोमवार को अनुविभागीय अफसर के नाम पर एक आवेदन लिखा…जिसमें उन्होंने अपनी दर्दभरी स्टोरी को बया किया है। उन्होंने बताया कि जनवरी 2019 में मेरे परिवार के बेटे, बहू बच्चे समेत 9 सदस्य को दलालों ने चंगुल में फॅसाकर दूसरे प्रदेश ले गए। इस बीच कोरोना संकट आया जिसमें उनका बड़े बेटे, बहू, नाती वापस बीमार हालत में वापस लौटे। अभी हाल 21 नवंबर को बीमार उनके बड़े बेटे मनोज की मौत हो गई। इस तरह मनोज का दशगात्र 1 दिसंबर को किया जाना है। ऐसे में उनके दूसरे बेटे और परिवार के 6 सदस्य अभी तक यूपी के ईंट भट्ठे में बंधक बनकर काम कर रहे हैं। पिता लक्षमण ने बताया कि उनके परिवार के सब सदस्य आना चाहते हैं लेकिन उन्हें आने नहीं दिया जा रहा है।
अनुविभागीय अफसर राजेश गोलछा ने इस आवेदन पर त्वरित कार्रवाई करते हुए 11 माह से बंधक बने श्रमिकों को उनके घर वापस लाने की पहल की है। जानकारी के अनुसार सभी परिवार के 06 सदस्य वहां से रवाना हो गए हैं। भाई दशगात्र कार्यक्रम में अब शामिल हो सकेंगे।
यहां पढ़ें: महासमुंद: नेताओं और जागरुक नागरिक के सामने भट्ठा सरदारों के नब्ज पड़ें ढीले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -webmorcha.com webmorcha.com

Most Popular

Recent Comments