पुलिस की बर्बरता जनता द्वारा चुने गए विधायक और उनके समर्थकों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, विरोध में आज महासमुंद बंद

महासमुंद . पुलिस वालों का खूनी चेहरा सामने आया है। महासमुंद जिले के निर्दलीय विधायक डॉ. विमल चोपड़ा और उनके समर्थकों पर बर्बारता पूर्वक लाठी चार्ज किया है। बतादें कि बॉल बैडमिंटन के कोच व स्थानीय लड़कों के साथ हुए मारपीट मामले में विधायक ने अपने सैकडों समर्थकों के साथ कोतवाली थाने का घेराव करने पहुंचे थे। जिसको लेकर पुलिस व विधायक समर्थकों के बीच विवाद बढ़ गया। पुलिस ने बलपूर्वक विधायक समर्थकों को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर बेरहमी से पिटाई कर दी। मामले को लेकर बुधवार को विधायक समर्थकों ने पुलिस के विरोध में महासमुंद बंद का आव्हान किया गया है। साथ ही विधायक डा. विमल चोपड़ा ने कहा जल्द ही कार्रवाई नहीं हुई तो वह देंगे इस्तीफा।

क्यो थाना का घेराव यह भी जानिए:

नीचे देखिए वीडियों: 

मिनी स्टेडियम में बैडमिंटन की तैयारी के दौरान एक महिला खिलाड़ी से छेड़छाड़ हुई थी। इसी मामले की शिकायत करने के लिए कुछ युवक थाने पहुंचे। इनमें से एक युवक से पुलिस अफसर ने दुर्व्यवहार किया। इसके बाद वे विधायक विमल चोपड़ा के पास पहुंचे। विधायक इन युवकों को साथ लेकर थाने गए। यहां बताया जाता है कि विधायक के साथ भी आईपीएस उदय किरण ने दुर्व्यवहार किया।

पुलिस ने बर्बरता

विधायक डा. विमल चोपड़ा ने कहा पुलिस बर्बरता में उतर आई है। पुलिस की कार्यप्रणाली आम जनता के लिए सही नहीं है। पुलिस शराब माफियाओं के साथ मिलकर अभी काम कर रही है।

जानिए पूरी घटनाक्रम

मंगलवार की देर रात तक प्रदर्शन चलता रहा। आईपीएस उदय को हाल ही में बिलासपुर से आंदोलन के बाद हटाया गया था। वहां उन पर आए दिन दुर्व्यवहार करने का आरोप लगा था।

वहां के युवकों ने मैदान में घुसकर खिलाड़ियों से दुर्व्यवहार किया। खिलाड़ियों ने अपने संघ के पदाधिकारी अंकित लुनिया को इसकी सूचना दी। अंकित ने कोतवाली थाने में रिपोर्ट लिखाने गए। जहां पुलिस वालों ने उनकी शिकायत नहीं ली और दुर्व्यवहार करके भगा दिया। उल्टा उनके खिलाफ ही केस दर्ज कर दी।

अंकित ने इसकी जानकारी विधायक विमल चोपड़ा को दी। विधायक खिलाड़ियों को लेकर शिकायत करने पहुंचे। जहां सब इंस्पेक्टर समीर डुमडुम ने उन्हें भीतर जाने नहीं दिया। उन्हें पहचानने से भी इनकार कर दिया।

घटना की सूचना मिलने पर आईपीएस उदय किरण मौके पर पहुंचे। उन्होंने भी विधायक से दुर्व्यवहार किया। वहां धक्का-मुक्की की नौबत आ गई थी। देर रात स्थानीय लोगों ने थाने का घेराव कर दिया।

थाने के सामने धरने पर बैठ गए। जमकर नारेबाजी करने लगे। पुलिस ने इसी दौरान भीड़ पर लाठीचार्ज कर दिया। इससे विधायक भी घायल हो गए।

पुलिस नेे कहा पत्थर बाजी हुआ इसलिए हल्का लाठी चार्ज हुआ

पुलिस विभाग ने सफाई देते हूुए पुलिस विभाग के अफसर और कर्मचारियों  की फोटो जारी कर बताया है कि सिटी कोतवाली थाने में हंगामे एवं नारेबाजी करने इनके समर्थकों के द्वारा पत्थर बाजी कर कई अधिकारियों और पुलिस के जवानों को घायल किया जिस पर पुलिस द्वारा हल्का लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ा गया। इस मामले।
(1) DSP विनोद मिंज  (2) SI संदीप मांडले(3) SI वीणा साहू (4)आर 738 ज्ञान सिंग सिदार (5) आर 403 विजय साहू (6) आर ललित पनागर को शरीर मे कई जगह चोटें आईं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button