वीडियो: फारेस्ट ने टेमरी नाका को बनाया वसूली का अड्‌डा…चिरान से भरी ट्रक को पांच दिन से नाका पर रोका, अब अफसर कह रहे होगी कार्रवाई!

0
1142
webmorcha.com
टेमरी नाका फारेस्ट

महासमुंद। ओडिशा सीमा टेमरी नाका को फारेस्ट ने अवैध वसूली का अड्डा बना दिए हैं। इस नाका में आम लोगों के साथ यहां से गुजरने वाले अंतर्राज्जीय ट्रांसपोर्टरों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसा ही कुछ नजारा टेमरी नाका में देखने को मिला है। नाका के पास पांच दिन से लकड़ी से भरे ट्रक खड़ी है। कहा जा रहा है कि उक्त ट्रक चालाक के पास स्टेट से गुजरने का (टीपी) परमिट नहीं है। यदि ऐसा स्थिति था तो, ट्रक पर तत्काल 24 घंटे के भीतर कार्रवाई किया जाना था। लेकिन, कार्रवाई नहीं कर वसूली की नियत से पांच दिन बाद भी वन विभाग ने कार्रवाई नहीं की। अब जब इसकी जानकारी मीडिया को हुई तो अफसर कह रहे हैं होगी कार्रवाई।

सवाल पांच दिन तक क्यो नहीं हुई कार्रवाई

पांच दिन तक कार्रवाई नहीं किए जाने पर अफसर गोलमोल जवाब दे रहे हैं। बताया जा रहा है कि अभी तक जांच में चल रही थी। अब कार्रवाई होगी। टेमरी नाका प्रभारी डिप्टी रेंजर मुश्ताक अली ने तो साफ कह दिया कि हमने ट्रक को रोका उनके पास जीएसटी के अलावा लकड़ी का कागजात है, लेकिन उनके पास टीपी नहीं है। जिस समय वाहन को रोके उसी समय कार्रवाई किया जाना था, अब कार्रवाई क्यो नहीं हुई और पांच दिन से यहां ट्रक को रोककर क्यो रखें हैं उच्च अफसर ही इसका जवाब दे सकते हैं।

मीडिया में आ गई इसलिए अब बंद करेंगे

विशाखापट्नम ट्रांसपोर्टर राजेश ने WebMorcha को बताया कि पांच दिन से पैसे की सेटिंग के लिए ट्रक खड़ी है। आंध्रप्रदेश प्रशासन कहती है कि जो पेपर छत्तीसगढ़ वन विभाग द्वारा मांगा जा रहा है, ओ पेपर बनता ही नहीं । ये लकड़ी विदेश से आया हुआ है। यहां के प्रशासन से छत्तीसगढ़ के अफसरों से बात करवा दिए हैं बावजूद नहीं छोड़ रहे हैं। अब अफसरों का कहना है कि अब मीडिया आ गया अब अंदर करेंगे अब नहीं छोड़ सकते।

जानिए पितृ पक्ष कल से…यदि आप भी पूर्वजों को करते हैं याद तो आपके लिए काम की खबर

ड्रायवर और खलासी भूखे प्यासे ट्रक के पास मौजूद

ट्रक ड्रायवर और खलासी बीते पांच दिन से ट्रक के पास मौजूद हैं, जिन्हें भूखे प्यासे ही यहां काटना पड़ रहा है। ट्रक चालाक ने बताया बीते पांच दिन से यहां हैं रात को हर वाहन को रोका जाता है, और 100-50 रुपए वसूली कर छोड़ रहे हैं। यहां इंसानियत नाम का कोई बात नहीं है, पानी मांगने पर भी धुत्कारते हैं।

रेंजर का गोलमोल जवाब

बागबाहरा रेजंर चंद्राकर ट्रक में पाइंन्स की लकड़ी है, ये लकड़ी विदेश अमेरिका न्यूजीलैंड से आता है। उनके स्टेट में टीपी फ्री है लेकिन हमारे स्टेट में टीपी लगता है। पांच दिन से ट्रक खड़े रखने की वजह पर साहब ने कहा कि वहां लेग्वेज प्राब्लम है, इसलिए कोशिश कर रहे थे कि कुछ लिगल दस्तावेज मिल जाए। इसलिए उनके तरफ से कुछ रिस्पांस नहीं मिल पाया है। अब कार्रवाई कर रहे हैं।

कार्रवाई पर डीएफओ नाट श्योर

डीएफओ पंकज राजपूत लकड़ी में ट्रक है जिसमें कागजात नहीं होना बताया जा रहा है। अभी तक हमने समय दिया है अब पीआर हो जाएगा। पेपर जो दिखा रहा है ओ ठीक है। कार्रवाई पर साहब ने कहा अभी क्या हुआ आई एम नॉट श्योर।

यहां देखिए वीडियो…