VIDEO: इस देश में जब आसमान से होने लगी चूहों की बारिश! कोरोना के बीच एक और संक्रमण का खतरा

सिडनी। विश्वव्यापी कोरोना वायरस (Coronavirus) से पहले ही हलाकान है, ऐसे में ऑस्ट्रेलिया (Australia) माउस प्लेग से भी जूझ रहा है. लोगों को डर है कि चूहे कहीं कोई दूसरी Epidemic ना फैला दें. ऑस्ट्रेलिया (Australia) में चूहों ने आतंक मचा रखा है. चूहों के आतंक की वह से से फैक्ट्री मालिक से लेकर किसान परेशान हैं. लाखों की तादात में चूहों ने फसलें बर्बाद कर दी हैं. लाखों चूहे ऑस्ट्रेलिया (Australia) की अलग-अलग फैक्ट्री और खेतों से निकल रहे हैं. लोग दहशत में तब आ गये जब आसमान से चूहों की ‘बारिश’ होने लगी.

आसमान से चूहों की बारिश!

दरअसल, ऑस्ट्रेलिया (Australia) में आसमान से चूहों की बारिश का यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. ट्विटर यूजर लूसी ठाकरे ने social media पर एक वीडियो शेयर किया है. यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. viral video में दिख रहा है कि एक गोदाम को साफ किया जा रहा है, ताकि उसमें किसान अपनी पैदावार रख सकें. पंप से जब गोदाम की सफाई की जा रही होती है, उस वक्त उस पंप से अचानक हजारों चूहे जमीन पर गिरने लगते हैं. इन चूहों में ज्यादातर चूहे मरे हुए होते हैं. चूहों की ‘बारिश’ के इस वीडियो ने ऑस्ट्रेलिया (Australia) को टेंशन में डाल दिया है.

वायरल तस्वीर: छत्तीसगढ़ के इस तालाब में मिली अमेजान की खतरनाक सकरमाउथ कैट मछली

माउस प्लेग का प्रकोप जारी

रिपोर्ट्स के अनुसार, इन चूहों ने ऑस्ट्रेलिया (Australia) में हजारों लोगों को काट लिया है, जिसकी वजह से कई लोगों में चूहों से जुड़ी बीमारी फैल गई है. हाल के महीनों में, पूर्वी ऑस्ट्रेलिया (Australia) में लाखों चूहे फसलों और स्टोर किए अनाज को बड़े पैमाने पर नष्ट कर रहे हैं. इतना ही नहीं, कुछ ने तो ग्रामीण अस्पतालों में भी अपना घर बना लिया है. एनएसडब्ल्यू मध्य-पश्चिम में माउस प्लेग का प्रकोप जारी है.

सरकार करेगी मदद

लाखों चूहों ने schosols, घरों, और खेतों पर हमला बोल दिया है. लोगों के घरों में कपड़े और खाना भी सुरक्षित नहीं है. चूहों की वजह से हजारों टन अनाज नष्ट करना पड़ रहा है क्योंकि उस अनाज में चूहों के ड्रॉप होने की वजह से प्लेग का खतरा है. सरकार गैरकानूनी जहर को चूहों को मारने के लिए परमीशन देने पर विचार कर रही है. न्यू साउथ वेल्स सरकार किसानों की मदद करने के लिए चूहों की समस्या से निपटने के लिए 50 मिलियन डॉलर जारी करेगी.