नहाते समय ठंड से बचने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल भी काफी आम हो जाता है. इसलिए अगर आपके घर में गीजर लगा है तो उसका इस्तेमाल करने के बाद उसे बंद करना न भूलें.

क्योंकि ज्यादा गर्म होने से गीजर फटने का खतरा रहता है. हालांकि नई तकनीक वाले ऑटोमैटिक गीजर में पानी गर्म होने के बाद वो ऑटो मोड में बंद हो जाता है.

लेकिन अगर आप पुराना गीजर यूज कर रहे हैं तो समय पर गीजर का स्विच जरूर ऑफ कर दें.

अगर गीजर कई साल पहले लगवाया है और वो पिछले सीजन के बाद पहली बार इस्तेमाल होने जा रहा है तो आप बिना सर्विसिंग के अपने गीजर का इस्तेमाल न करें.

गीजर का वायर अगर कॉपर का नहीं होगा तो उसके फटने की संभावना ज्यादा है. गीजर लगाने के बाद ये चेक करें कि अर्थिंग सही है या नहीं.

कई बार लोग पैसा बचाने के लिए सस्ता और कामचलाऊ गीजर खरीद लेते हैं जबकि वो अच्छी तरह से जानते हैं कि सस्ता गीजर पूरी तरह से सेफ नहीं होता है.

ऐसे में गीजर खरीदते समय ISI मार्क वाले गीजर का चुनाव करें.

साथ ही गीजर को बाथरूम में फिट करने के लिए मकैनिक की मदद लें और खुद गीजर फिट करने से बचें. इससे गीजर ब्लास्ट होने की संभावना न के बराबर हो जाती है.

गीजर का वायर अगर कॉपर का नहीं होगा तो उसके फटने की संभावना ज्यादा है. गीजर लगाने के बाद ये चेक करें कि अर्थिंग सही है या नहीं.

सर्दियों का सीजन शुरू होने से लेकर अभी तक देशभर में गीजर के फटने की कई खबरें आ चुकी हैं. ऐसे में आपको भी बेहद सावधान रहने की जरूरत है.

बिजली के झटके से बचने के लिए आप करीब 10 से 15 मिनट पहले गीजर का स्विच ऑन कर लें और पानी गर्म कर लें.

अगर आपको ज्यादा पानी की जरूरत है तो बाल्टी में भी स्टोर कर सकते हैं.

गीजर यूज करते वक्त आपको बिजली का झटका न लगे इस बात का खास ख्याल रखें.

इसके लिए नल चलाते वक्त या शॉवर से नहाते समय कभी भी गीजर का स्विच ऑन न करें. गीजर को बच्चों की पहुंच से दूर रखने की कोशिश करें. कई बार गीजर छूने पर बच्चों को करंट लगने का खतरा रहता है. इसलिए गीजर को बाथरूम में थोड़ी ऊंचाई पर लगवाएं.