शाह हाउस में बा और वनराज अपने घर पर आती मुसीबत को देखकर परेशान है

बा तो बार बार अनुपमा को ताने मारती है लेकिन अनुपमा कुछ कहती नहीं है,

जिसके बाद वनराज पाखी से मिलने जाता है जहां पाखी उसे कहती है कि वो अकेली रहती है

और गुंडे उसे आसानी से निशाना बना सकते हैं

वनराज ये सुनकर परेशान हो जाता है उसे अपने साथ ले आता है

जिसके बाद वनराज फैसला सुनाता है कि अब इस इसको यही खत्म करते हैं,

जब तक ये केस खत्म नहीं होगा,तब तक अनुपमा या कपाड़िया

हाउस से जुड़ा शख्स शाह हाउस नहीं आएगा।

अपकमिंग एपिसोड में आप देखेंगे कि अनुपमा आरोही के घर पहुंचती है

जहां आरोपी उस पर हमला करता लेकिन उसके कदमों में गिर जाता हैं