लो आखिरकार हो ही गई 'माया' की 'Anupamaa' में एंट्री, अब एक साथ शाह और कपाड़िया परिवार में कलह मचने वाली है।

आपने अब तक के एपिसोड्स में देखा होगा कि माया हर वक्त अनुज-अनुपमा के घर पर अपनी नजर रखती है और हर एक बात को नोटिस करती है।

इतना ही नहीं माया ने अनुपमा और अनुज की बेटी छोटी अनु पर भी अपना जादू चला रखा है।

अपकमिंग एपिसोड्स को देखकर फैंस को शॉक लगने वाला है

क्योंकि काव्या मकर संक्रांति के जिस ईवेंट में परफॉर्म करने वाली है वो माया ने ही ऑर्गनाइज करवाया है।

मोहित,काव्या को बताता है कि माया मैम बहुत अच्छी हैं, इस पर काव्या भी माया से मिलने को बेताब हो जाती है।

लेकिन अभी तक काव्या को ये नहीं पता है कि माया का कनेक्शन कपाड़िया परिवार से भी है। जिस ईवेंट में शाह और कपाड़िया फैमली पहुंची है

वहां खूब ड्रामा देखने को मिलने वाला है। बा पहले तो डिंपी और समर की बात सुनती है और फिर अचानक आकर दोनों को खरी-खोटी सुनाने लगती हैं।

इतने में अनुपमा की एंट्री होती है और वो बा की आवाज बंद करवा देती है। दोनों के बीच जबरदस्त तू तू- मैं मैं होती है।

बा कह देती है कि मैं डिंपी को पसंद नहीं करती हूं इसके बाद अनुपमा बा को समझाने लगती है।

गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच जाता है वो गुस्से में यहां तक कह देती है कि तेरे सीने में मां का दिल नहीं है

तूने बेटी को घर से निकाल दिया और तोषू को जेल भेजने का बंदोबस्त कर दिया।

बा की बातों को सुनकर अनुपमा दुखी हो जाती है। बा कहती है कि तू डिंपी को शाह परिवार में घुसाकर अपनी चलाना चाहती है।

बा की बातें सुनने के बाद अनुपमा कहती है कि वह समर का साथ देगी चाहे जो हो जाए। बा को चुप करवाने के लिए अनुज और वनराज भी बा को समझाते हैं।

जाते-जाते बा कह देती है कि तू अपने घर, अपनी बेटी और अपने पति पर ध्यान दे क्योंकि होने को तो कुछ भी हो सकता है।

ये सब तमाशा माया भी छिपकर देख रही होती है और बा की बात पर हामी भरती है। अनुज बा के जाने के बाद अनुपमा को समझाता है

आखिरकार सभी ईवेंट में शो देखने पहुंचते हैं जहां छोटी अपनी मां अनुपमा और अनुज के साथ परफॉर्म करेगी।

आने वाले सप्ताह में दर्शकों को खूब लड़ाई-झगड़ा देखने को मिलने वाला है

क्योंकि माया ने काव्या के जरिए शाह परिवार और छोटी के जरिए कपाड़िया परिवार में कलह मचाने का प्लान बना लिया है।