मैच में हार्दिक ने कमाल की कप्तानी की और बेहतरीन प्रदर्शन कर अपनी कप्तानी में चार चांद लगा दिए

सेलेक्टर्स उनमें भविष्य का कप्तान देखते हैं. उन्हें टी20 टीम का परमानेंट कैप्टन बनाए जाने की मांग उठ रही है

3 वजहें ऐसी हैं, जिससे ये साबित होता है कि हार्दिक पांड्या भविष्य के कप्तान बनने लायक हैं

उनमें महेंद्र सिंह धोनी जैसे फैसले लेने की कला है.

किसी भी टीम का कप्तान वह बढ़िया होता, जो खुद अच्छा प्रदर्शन कर, टीम को प्रेरित करने में माहिर हो और हार्दिक पांड्या इसमें एक्सपर्ट हैं

वह कातिलाना गेंदबाजी और धाकड़ बैटिंग के लिए फेमस हैं

श्रीलंका के खिलाफ पहले टी20 मैच में उन्होंने सावधानी पूर्वक 29 रनों की पारी खेली

इसके बाद गेंदबाजी में अपने जौहर दिखाते हुए

पहले तीन ओवर में सिर्फ 12 रन दिए. हार्दिक पांड्या टीम को आगे बढ़कर लीड करते हैं.

हार्दिक पांड्या मैदान पर बिल्कुल महेंद्र सिंह धोनी की तरह फैसले लेते हैं. वह शांत रहते हैं

धोनी की तरह ही कठिन परिस्थितियों में भी शांत नजर आते हैं

वह फैसले लेने में हड़बड़ी नहीं दिखाते हैं

हार्दिक की कप्तानी में टीम इंडिया अब तक अब तक 5 टी20 मैच जीत चुकी है

हर सीरीज के साथ वह कप्तान के रूप में निखरते जा रहे हैं.

किसी भी टीम का वह कप्तान बढ़िया होता है

जब उसकी रणनीति को विरोधी टीम भांप ना पाए

श्रीलंका के खिलाफ हार्दिक पांड्या ने ऐसा ही एक फैसला लिया

जब श्रीलंकाई टीम को आखिरी ओवर में जीतने के लिए 13 रनों की जरूरत थी

तब हार्दिक ने खुद ओवर ना करके अक्षर पटेल से गेंदबाजी करवाई

जबकि मैच में पहले 2 ओवर्स में 21 रन दे चुके थे

फिर भी कप्तान हार्दिक ने उनके ऊपर भरोसा किया.