भारत और न्यूजीलैंड के बीच वनडे सीरीज का आखिरी मैच 24 जनवरी को खेला जाना है.

इस मैच से पहले टीम इंडिया के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान राहुल द्रविड़ ने रोहित शर्मा की कप्तानी पर उठ रहे सवालों पर बड़ा बयान दिया

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीसीसीआई तीनों फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तान बनाने पर विचार कर रहा है

भारत के मुख्य कोच राहुल द्रविड़  ने सोमवार को इस बात का खंडन किया कि उनकी टीम अलग अलग फॉर्मेट के लिए अलग कप्तान की नीति अपना रही है

पिछले साल टी20 वर्ल्ड कप से भारत के सेमीफाइनल में बाहर होने के बाद से विराट कोहली

रोहित शर्मा और केएल राहुल के टी20 करियर पर सवाल उठाए जा रहे हैं.

तीनों ने पिछले साल नवंबर में इंग्लैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप सेमीफाइनल के बाद से कोई टी20 मैच नहीं खेला है.

न्यूजीलैंड और श्रीलंका के खिलाफ सीरीज से भी वे बाहर थे. इसके बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ इस सप्ताह होने वाली सीरीज में भी नहीं हैं.

रोहित की गैरमौजूदगी में हार्दिक पांड्या ने टी20 टीम की कप्तानी की और 2024 में टी20 वर्ल्ड कप में भारत की कप्तानी के प्रबल दावेदार है.

न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे वनडे से पहले द्रविड़ ने एक सवाल के जवाब में कहा, 'मुझे इसकी जानकारी नहीं है

आपको चयनकर्ताओं से यह सवाल पूछना चाहिए लेकिन फिलहाल मुझे ऐसा नहीं लगता.'

इस महीने द्रविड़ ने खुद कहा था कि भारतीय टी20 टीम बदलाव के दौर से गुजर रही है और संयम रखने की जरूरत है.

रोहित ने हालांकि कहा है कि उन्होंने टी20 क्रिकेट में अपने भविष्य को लेकर फैसला नहीं किया है

रोहित ने इस महीने कहा था, 'हमें न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन टी20 खेलने हैं.

देखते हैं कि आईपीएल के बाद क्या होता है. मैने टी20 फॉर्मेट छोड़ने पर फैसला नहीं लिया है.'

रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल 31 जनवरी से होना है और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए अभ्यास शिविर दो फरवरी से शुरू होगा

भारतीय टीम के किसी सदस्य को रणजी क्वार्टर फाइनल खेलने के लिए छोड़ा नहीं जायेगा.

द्रविड़ ने कहा, 'हम चाहते थे कि लड़के खेलें लेकिन हमारे लिए यह कठिन फैसला था.

हम किसी खिलाड़ी को छोड़ नहीं सकेंगे लेकिन अगर सीरीज शुरू होने के बाद सेमीफाइनल या फाइनल के लिए जरूरत पड़ी

वह खिलाड़ी नहीं खेल रहा है तो हम सोच सकते हैं.'