श्रीलंका के खिलाफ खेली जा रही तीन मैचों की टी20 सीरीज में एक युवा भारतीय टीम खेल रही है

हार्दिक पांड्या की कप्तानी वाली इस टीम ने सीरीज की शुरुआत जीत के साथ की थी

लेकिन दूसरे ही मैच में भारतीय टीम को 16 रनों से हार का सामना करना पड़ा

इस हार के बाद कई दिग्गजों ने टीम पर सवाल उठाए हैं

इन सब के बीच भारतीय टीम के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने इस हार पर बड़ा बयान दिया है

वह अपने युवा गेंदबाजों का बचाव करते दिखाई दिए है.

भारतीय गेंदबाजों ने इस मैच में पहले गेंदबाजी करते हुए 20 ओवर में 206 रन लुटाए

इस मैच के दौरान भारतीय गेंदबाज पूरी तरह फ्लॉप रहे और  पारी में 7 नो बॉल भी फेंकी

युवा गेंदबाजों के खराब प्रदर्शन के बाद उनकी जमकर आलोचना हो रही है

लेकिन हेड कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने गेंदबाजों का समर्थन करते हुए कहा है कि वह युवा खिलाड़ी हैं और हमें धैर्य रखने की जरूरत है.

राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने युवा गेंदबाजों पर बात करते हुए कहा, 'कोई भी गेंदबाज वाइड या नोबॉल नहीं फेंकना चाहता

खासकर टी20 क्रिकेट में ये आपको दर्द दे सकती है. हमें युवा खिलाड़ियों के साथ धैर्य रखने की जरूरत है

टीम में काफी युवा खिलाड़ी खेल रहे हैं. उनके साथ समय समय पर ऐसे खेल होंगे

हमारे तेज गेंदबाज काफी युवा हैं और वाइड या फिर नोबॉल जैसी गलती हो जाती है.'

राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने आगे कहा, 'बेशक खिलाड़ी सुधार के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं

हम कड़ी मेहनत करते रहते हैं और हम उन्हें तकनीकी रूप से समर्थन देने में मदद करने की कोशिश करते रहते हैं

तकनीकी रूप से सपोर्ट करने और उनके हिसाब से माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं.'

दोनों टीमों के बीच टी20 सीरीज का आखिरी मैच 7 जनवरी को खेला जाएगा

भारतीय टीम के खराब खेल को देखते हुए ऐसा माना जा रहा है कि आखिरी मैच में टीम इंडिया प्लेइंग 11 में बदलाव कर सकती है

लेकिन प्लेइंग 11 पर राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने कहा, 'मैंने तीसरे मैच के बारे में नहीं सोचा है

एक बार जब हम वहां जाएंगे तो हम विकेट देखेंगे. लेकिन मुझे उम्मीद नहीं है कि बहुत अधिक प्रयोग होंगे

जो खिलाड़ी पहले से ही हैं खेल रहे हैं बहुत युवा टीम.

इसलिए हम खिलाड़ियों को बहुत ज्यादा नहीं काटेंगे और बदलेंगे.