ऋषभ पंत की चोट के बारे में बताया जा रहा है, लेकिन बीसीसीआई की तरफ से इस बात की कोई अधिकारिक जानकारी नहीं दी जा रही है

कि उनकी चोट कितनी गंभीर है और वह कबतक मैदान पर वापसी कर सकते हैं

लेकिन अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से कहा जा रहा है कि पंत को मैदान पर वापस लौटने में सालभर का वक्त लग सकता है

अगर ऐसा होता है तो पंत सिर्फ आईपीएल 2023 ही नहीं, बल्कि इस साल के अंत में होने वाले आईसीसी वनडे वर्ल्ड में भी नहीं खेल पाएंगे.

इनसाइड स्पोर्ट्स ने बीसीसीआई की मेडिकल टीम के सूत्र के हवाले से बताया है कि अस्पताल के डॉक्टरों का मानना ​​है

पंत को मैदान पर वापसी करने के लिए कम से कम 8-9 महीने लगेंगे. इसका मतलब है

न केवल वह आईपीएल 2023 को मिस करेंगे बल्कि अक्टूबर में एशिया कप 2023 और वनडे वर्ल्ड कप भी मिस करेंगे

डॉ. दिनशॉ पारदीवाला के नेतृत्व में डॉक्टरों की एक टीम ने गुरुवार की सुबह पंत की जांच की.

सूत्रों ने इनसाइडस्पोर्ट को बताया कि उन्हें लगता है कि जब तक सूजन कम नहीं होती

तब तक कोई एमआरआई या सर्जरी नहीं की जा सकती. अस्पताल के विशेषज्ञों का मानना ​​है

पंत को गंभीर लिगामेंट टीयर है और उन्हें पूरी तरह से सामान्य ट्रेनिंग रूटीन में वापस आने में कम से कम 8-9 महीने लगेंगे.

बीसीसीआई मेडिकल टीम के करीबी सूत्र ने कहा, ”अभी चोट कितनी गहरी है, इसके बारे में बता नहीं सकते.

अगले 3-4 दिन में स्थिति साफ हो सकती है, लेकिन अस्पताल के डॉक्टरों का मानना है कि पंत का लिगामेंट टीयर गंभीर है

और विकेटकीपर को मैदान पर जिस तरह के वर्कलोड का सामना करना पड़ता है. उससे लगता है कि उन्हें मैदान पर वापसी करने में 8-9 महीने लग सकते हैं.”

बता दें कि मुंबई में ऋषभ पंत डॉ दिनशॉ पारदीवाला की देखरेख में हैं, जो पहले सचिन तेंदुलकर

, युवराज सिंह, जसप्रीत बुमराह और रवींद्र जडेजा के साथ-साथ अन्य एथलीटों के साथ काम कर चुके हैं

पारदीवाला मुंबई के उपनगर अंधेरी में कोकिलाबेन अस्पताल में सेंटर फॉर स्पोर्ट्स मेडिसिन के प्रमुख और निदेशक – आर्थोस्कोपी एंड शोल्डर सर्विस हैं

30 दिसंबर को ऋषभ पंत उत्तराखंड के रुड़की में अपनी मां से मिलने के लिए जा रहे थे

जब उनकी कार सुबह करीब 5.30 बजे सड़क के डिवाइडर से टकरा गई

उनकी कार में आग लग गई, लेकिन वह इस दुर्घटना में बिना किसी जानलेवा चोट के बच गए.

IND vs SL: राहुल द्रविड़ ने टीम इंडिया की हार पर दिया अजीबोगरीब बयान