आचार्य चाणक्य के अनुसार बात-बात पर रोने और चिल्लाने वाली महिलाएं किसी से कम नहीं होती.

ऐसे में अन्य महिलाओं को मात दे देती हैं

इन महिलाओं का चरित्र बहुत अजीब होता है

लेकिन जो पुरुष ऐसी महिलाओं से शादी करता है

उनका जीवन सवंर जाता है

जी हां, चाणक्य का कहना है कि ऐसी महिलाएं पुरुषों के लिए भाग्यशाली मानी जाती हैं.

जो स्त्री बात-बात पर रोती है या चिल्लाती है ऐसी स्त्री की आपको कदर करनी चाहिए.

क्योंकि ऐसी स्त्री आपको दोबारा नहीं मिलेगी.

ये स्त्रियां परिवार के लिए बहुत अच्छी मानी जाती हैं.

जो मन में होता है बोल देती हैं. किसी प्रकार की द्वेष भावना नहीं रखतीं.

चाणक्य का कहना है कि इस तरह की स्त्रियां अपने प्रेमी से कभी दूर नहीं होना चाहती.

इसलिए इस तरह की स्त्रियां किसी को आसानी से नहीं मिलती. और मिले तो आसानी से खोना नहीं चाहिए