कोमाखानमहासमुन्द

जानिए आज देवरी के जनसमस्या निवारण शिविर में क्या हुआ, शासन की योजनाओं का किसे मिला लाभ

महासमुंद. शासन की मंशा के अनुरूप एवं जिला प्रशासन के कुशल मार्गदर्शन में बुधवार को जिले के बागबाहरा विकासखंड के ग्राम देवरी में आज जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन किया गया। ग्राम देवरी में आयोजित इस शिविर में आसपास की ग्राम पंचायतों के ग्रामीणों ने भी अपनी-अपनी मांग, शिकायत एवं समस्याओं से संबंधित आवेदन प्रस्तुत किए

और विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने अपने विभाग से संबंधित आवेदनों का निराकरण किया। इस दौरान जनपद पंचायत सदस्य सुषमा चंद्राकर, उत्तम कुमार राणा, कलेक्टर हिमशिखर गुप्ता, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज रघुवंशी थे।

यहां पढें: http://राष्ट्रपति पहुंचे जगदलपुर: हल्की बूंदाबांदी के बीच आत्मीय स्वागत

107 आवेदनों का निराकरण

शिविर में कुल 114 आवेदन प्राप्त हुए, जिसमें से 107 आवेदनों का मौके पर निराकरण किया गया तथा शेष 7 आवेदनों का निराकरण के लिए समय-सीमा तक कर संबंधित विभागों को कार्रवाई के लिए प्रेषित किया गया। जिला कलेक्टर श्री हिमशिखर गुप्ता द्वारा विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए स्टॉलों का अवलोकन भी किया गया।

http://प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के बेहतर क्रियान्वयन में जशपुर जिला अव्वल

उत्तम ने कहा मांगे अपना अधिकार

इस अवसर पर जनपद पंचायत सदस्य उत्तम कुमार राणा ने कहा कि जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन समस्याओं के समाधान हेतु किए जाते है। इसमें ग्रामीणजनों की समस्याएं अधिकारीगण सुनते है और उनका समाधान करते है।

http://ड्रिप सिंचाई पद्धति और शेड नेट फार्मिंग तरीके से खेती कर लक्ष्मी प्रसाद पर बरस रही धनलक्ष्मी

उन्होंने उपस्थित ग्रामीणों से कहा कि ग्रामीणजन अधिक से अधिक संख्या में इन जनसमस्या निवारण शिविरों में उपस्थित होकर अधिकारियों के समक्ष अपनी छोटी-बड़ी समस्याओं के आवेदन प्रस्तुत करें और उनका मौके पर ही निराकरण पाए।

कलेक्टर हिमशिखर गुप्ता

कलेक्टर ने कहा जानकारी का अधिक से अधिक लोग उठाएं लाभ

जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर को संबोधित करते हुए जिला कलेक्टर हिमशिखर गुप्ता ने कहा कि माह में दो बार इस प्रकार के शिविरों का आयोजन किया जाता है, ताकि ग्रामीणजन के समीप आकर उनकी समस्याओं का समाधान कर सके।

कुछ समस्याओं का निराकरण शिविर स्थल पर किया जाता है, कुछ का निराकरण विकासखंड स्तर पर एवं कुछ समस्याओं का निराकरण जिला स्तर पर तथा शासन स्तर पर भी होता है।

यहां पढें: http://बाइक में कीचड़ लगाकर 93 हजार उठाईगिरी करने वालों को क्राइम पुलिस ने फिल्मी स्टाइल में धर-दबोचा

उन्होंने कहा कि इन शिविरों में आवेदनों को सूचीबद्ध कर उनका निराकरण समय-सीमा में किया जाता है।

उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों के अधिकारी इन शिविरों में पहुंचकर अपने-अपने विभाग से संबंधित योजनाओं की विस्तार से जानकारी देते है। इन योजनाओं के बारे में ग्रामीणजन जानकारी लेकर अधिक से अधिक लाभ उठा सकते है।

उन्होंने कहा कि शासन द्वारा विभिन्न योजनाओं का संचालन किया जा रहा है उन योजनाओं का ग्रामीणजन लाभ उठाए।

उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग द्वारा आबादी पट्टा तैयार कर ग्रामीणों को वितरित किया जा रहा है और बागबाहरा विकासखंड में 15 हजार से अधिक आबादी पट्टे वितरित किए जा रहे है।

उन्होंने कहा कि आगामी 10-15 दिनों में लगभग सभी आबादी पट्टों का वितरण हो जाएगा। इसके बाद शहरी क्षेत्रों में भी आबादी पट्टा वितरित किए जाएंगे।

आगामी माह से किया जाएगा मोबाइल का वितरण

जिला कलेक्टर ने कहा कि शासन द्वारा संचार क्रांति योजना स्काई के तहत पात्र परिवारों को मोबाईल का वितरण किया जाएगा। प्रथम चरण में जिले के शहरी क्षेत्रों में इसका वितरण आगामी 5 अगस्त से होगा।

इस मोबाईल में शासन की विभिन्न लोक कल्याणकारी एवं जनकल्याणकारी योजनाओं की विस्तार से जानकारी मिलेगी। उन्होंने कहा कि अभी भी ऐसे आवेदक जिन्होंने आवेदन नहीं किया है वे आवेदन फार्म भर सकते है।

मीजल्स-रूबेला का टीकाकरण

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि आगामी अगस्त माह में मीजल्स-रूबेला का टीकाकरण प्रारंभ हो रहा है, जिसमें 9 माह से लेकर 10 वीं कक्षा तक पढ़ने वाले सभी बच्चों को टीके लगाए जाएंगे।

जिनकों पहले भी टीका लग चुका है, उन्हें भी यह टीका लगाए जाएंगा। उन्होंने मुख्यमंत्री नवीन योजना के संबंध में जानकारी दी और कहा कि ऐसे वृद्धजन जिनका नाम छुटा हुआ है वे ग्राम पंचायतों में जाकर फार्म भर कर जमा करें, उन्हें इस पेंशन योजना का लाभ दिया जाएगा।

फसल बीमा का उठाएं लाभ

जिला कलेक्टर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत कृषक अपने खरीफ फसल का बीमा अवश्य कराएं।

उन्होंने विगत खरीफ वर्ष के संबंध में बताया कि बागबाहरा क्षेत्र में 40 करोड़ की बीमा राशि एवं 10 करोड़ रूपए का सूखा राहत किसानों को वितरित किया गया था और कृषक लाभान्वित हुए। उन्होंने यह भी कहा कि अधिक से अधिक संख्या में अऋणी किसान फसल बीमा कराएं।

इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है और 31 जुलाई तक इसकी अंतिम तिथि तय की गई है। इस अवसर पर बागबाहरा अनुविभागीय अधिकारी  दीनदयाल मंडावी, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  पंकज डाहिरे सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय एवं विकासखंड स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

हितग्राहियों को सामग्री वितरण

बागबाहरा विकासखंड के देवरी में जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर में इस दौरान पंचायत सदस्य सुषमा चंद्राकर,  उत्तम कुमार राणा, कलेक्टर  हिमशिखर गुप्ता, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज रघुवंशी द्वारा हितग्राहियों को सामग्री का वितरण किया गया। इस अवसर पर कृषि विभाग द्वारा ग्राम देवरी के विजय, सेवक और चैनलाल को मक्कामिनीकीट का वितरण किया गया।

गोद भराई की रस्म की गई

महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा तीन गर्भवती माताओं  सुगेद्री चक्रधारी,  भानबति चक्रधारी एवं  हेमलता साहू की गोद भराई की रस्म की गई तथा पांच नन्हें मुन्ने बच्चों का अन्न्न प्रासन्न कराया गया, जिसमें देविका साहू, रथबाई, मोतीन, सरोज और खिलेश्वरी साहू शामिल है।

11 महिलाओं को गैस सिलेण्डर

इसी प्रकार खाद्य विभाग द्वारा प्रधानमंत्री उज्ज्वल योजना के तहत 11 महिलाओं को गैस सिलेण्डर एवं चूल्हा वितरित किया गया। इसमें श्रीमती देवकुमारी, कतिका, सुशीला बाई, संतोषी, बुगली, कलावती, सुत्रिता, नीराबाई, कमला बाई, चंद्रकला और हिरमोतिन शामिल है।

लोगों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण

शिविर स्थल पर स्वास्थ्य विभाग एवं आयुष विंग द्वारा स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया था। जिसमें बड़ी संख्या में ग्रामीणजनों ने अपना स्वास्थ्य परीक्षण कराया और चिकित्सकों से ईलाज की सलाह भी ली। इस अवसर पर देवरी एवं पटपरपाली की सरपंच एवं पंचगण तथा बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button