संक्रमित होने बाद मरीज को अस्पताल में कब होना चाहिए भर्ती? जानें डॉक्टर की सलाह, कुछ मिनट वॉक कर लगाए पता

नई दिल्ली। भारत में कोविड संक्रमण (Coronavirus in India) के कारण हालात गंभीर होते जा रहे हैं और लगातार बढ़ रहे मरीजों की वजह से हॉस्पीटल में बेड की भारी कमी है. डॉक्टर आरटी-पीसीआर टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने वाले मरीजों को जरूरी नहीं होने पर हॉस्पीटल में भर्ती ना होने की सलाह दे रहे हैं, क्योंकि अधिककतर लोग घर पर ही ठीक हो रहे हैं.

जानिए कब होना चाहिए हॉस्पीटल में भर्ती?

इस बीच केंद्र सरकार (Government of India) ने एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें टाटा मेमोरियल अस्पताल के निदेशक डॉ. सीएस प्रमेश के सुझावों पर आधारित कुछ सुझाव दिए गए हैं. वीडियो में अच्छे पोषण के अलावा, तरल पदार्थ लेने, योग-प्राणायाम करने, कोविड-पॉजिटिव रोगियों को अपने बुखार और ऑक्सीजन के लेवल को ट्रैक करने की सलाह दी गई है.

भारत में कोरोना ने तोड़ा विश्व रिकार्ड, 3.16 लाख संक्रमित, 2102 मरीजों की मौत

जानिए कितना होना चाहिए बॉडी में ऑक्सीजन लेवल?

वीडियो संदेश ने कहा गया है, अगर आपके बॉडी में ऑक्सीजन लेवल 94 से अधिक है तो आपको अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं है. इसके अलावा ऑक्सीजन लेवल की सटीक जांच के लिए मरीज को अपने कमरे में छह मिनट वॉक करने के बाद टेस्ट का सुझाव दिया गया है. छह मिनट तक चलने के बाद और पहले के ऑक्सीजन लेवल में 4 प्रतिशत या अधिक उतार-चढ़ाव होता है तो हॉस्पिटल से संपर्क करने की सलाह दिया गया है.

कोविड मरीज को कौन सी दवा लेनी चाहिए?

वीडियो में बताया गया है कि अगर मरीज का ऑक्सीजन लेवल ठीक है और बुखार के अलावा कोई अन्य समस्या नहीं है तो ऐसे मरीज को सिर्फ पैरासिटामोल लेने और खुश रहने की जरूरत है. इसके अलावा उसे अस्पताल में भर्ती होने की भी जरूरत नहीं है.