देश/विदेशमेरा गांव मेरा शहर

स्विस बैंक में किन-किन भारतीयों के हैं कालेधन, आज सीबीडीटी कर सकता है खुलासा!

दिल्ली। मोदी सरकार ने बीते 5 सालों में ब्‍लैकमनी पर नकेल कसने के लिए नोटबंदी और बेनामी प्रॉपर्टी से जुड़े कई अहम फैसले किए. अब सरकार के दूसरे कार्यकाल में ब्‍लैकमनी को लेकर जो खबर आई है वह  थोड़ी राहत देने वाली है. कालेधन के खिलाफ आज बड़ी कार्रवाई होने जा रही है. स्विस बैंक में जिन लोगों ने कालाधन जमा रखा है उनके नाम उजागर किये जाएंगे. इस सिलसिले में स्विस बैंक के अधिकारी भारत आए हैं. भारत और स्विटजरलैंड के टैक्स अधिकारियों की 29-30 अगस्त को बैठक हुई. इस बैठक में दोनों देश के अधिकारियों ने उन नामों का खुलासा किया जिन्होंने एक दूसरे के देशों में पैसा छिपा कर रखा था  इस कदम को लेकर केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने कहा, ‘काले धन के खिलाफ सरकार की लड़ाई में एक महत्वपूर्ण कदम है और स्विस बैंकों के गोपनीयता का युग आखिरकार सितंबर से खत्म हो जाएगा.’ सीबीडीटी आयकर विभाग के लिए नीति बनाता है. वहीं सीबीडीटी ने बताया कि भारत को स्विट्जरलैंड में भारतीय नागरिकों के साल 2018 में बंद किए खातों की जानकारी भी मिलेगी.

यहां पढ़ें : http://पत्नी को मोटी कहना पड़ा भारी, पति के खिलाफ एफआईआर दर्ज

सीबीडीटी का कहना है कि सूचना आदान-प्रदान की यह व्यवस्था शुरू होने के ठीक पहले भारत आए स्विट्जरलैंड के एक प्रतिनिधिमंडल ने राजस्व सचिव एबी पांडेय, बोर्ड के चेयरमैन पीसी मोदी और बोर्ड के सदस्य (विधायी) अखिलेश रंजन के साथ बैठक की. 29-30 अगस्त के बीच आए इस प्रतिनिधिमंडल की अगुआई स्विट्जरलैंड के अंतरराष्ट्रीय वित्त मामलों के राज्य सचिवालय में कर विभाग में उप प्रमुख निकोलस मारियो ने की. कितना है काला धन? इस साल लोकसभा में जून महीने में वित्त पर स्टैंडिंग कमेटी की एक रिपोर्ट पेश की गई थी. इसके मुताबिक साल 1980 से साल 2010 के बीच 30 साल के दौरान भारतीयों के जरिए लगभग 246.48 अरब डॉलर यानी 17,25,300 करोड़ रुपये से लेकर 490 अरब डॉलर यानी 34,30,000 करोड़ रुपए के बीच काला धन देश के बाहर भेजा.

हमसे जुड़िए…

https://twitter.com/home

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500, 8871342716, 7804033123

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button