देश/विदेशमेरा गांव मेरा शहर

कांग्रेस CM बदलने में हमेशा फ्लाप क्यों? 1 नहीं कई बार दोहराई ये गलती

राजस्थान (Rajasthan) का मौजूदा सियासी संकट कांग्रेस के लिए नया नहीं है. पार्टी कई राज्यों में ऐसी स्थितियों से गुजरी है लेकिन आज तक अपनी गलतियों से सबक नहीं ले सकी.

राजस्थान राजनीतिक ड्रामा: CM का चयन करना या उन्हें बीच में बदलना कांग्रेस (Congress) पार्टी के लिए आमतौर पर एक कठिन और अशांत प्रक्रिया रही है. ऐसा करने में कांग्रेस के सामने स्थानीय सियासी आकांक्षाएं, मजबूत दावेदार और उनका दबदबा सत्ता के सुचारू हस्तांतरण के रास्ते में आता रहा है. राजस्थान में CM  अशोक गहलोत के कम से कम 83 वफादार विधायकों की बगावत और इस्तीफा देने की धमकी के बाद राज्य में कांग्रेस सरकार बड़े संकट में पड़ गई है.

पुडुचेरी में गंवाई सरकार

14 साल पहले 2008 में कांग्रेस (Congress) के लिए ऐसी ही स्थिति पुडुचेरी में बनी थी. पुडुचेरी के मौजूदा कांग्रेस मुख्यमंत्री एन रंगास्वामी को कांग्रेस (Congress) हाई कमान के उम्मीदवार वी वैथिलिंगम को नियुक्त करने के लिए जबरन हटा दिया गया था. 2011 में, रंगास्वामी ने कांग्रेस पार्टी छोड़ दी थी. इसके साथ ही उन्होंने एनआर कांग्रेस का गठन किया और सत्ता में आए. रंगास्वामी भाजपा के साथ साझेदारी में केंद्र शासित प्रदेश के वर्तमान सीएम हैं. पिछली कांग्रेस सरकार 2020 में बीच में ही गिर गई थी और पुडुचेरी में राष्ट्रपति शासन लगाया गया था.

आंध्र प्रदेश में भी वही गलती

CM पद के मुद्दे पर कांग्रेस (Congress) ने पिछले कुछ वर्षों में कम से कम तीन लोकप्रिय युवा नेताओं को खो दिया है. 2009 में, जब वाईएस राजशेखर रेड्डी की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मृत्यु हो गई, तो कांग्रेस ने उनके बेटे जगनमोहन के दावों की अनदेखी की और के रोसैया को अविभाजित आंध्र प्रदेश का CM  नियुक्त किया. जब जगन की राज्य में यात्रा करने की अपील को खारिज कर दिया गया तब निराश नेता के पास कांग्रेस छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं  बचा था. कांग्रेस (Congress) छोड़कर अपनी पार्टी बनाने के बाद वह 2019 में सीएम बने.

MP में हाथ से चली गई सत्ता

इसी तरह कांग्रेस (Congress) ने  MP में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 2017 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. उनकी मेहनत का ही नतीजा था कि कांग्रेस (Congress) 15 साल के अंतराल के बाद राज्य में पार्टी सत्ता में आ सकी थी. हालाँकि, हाईकमान ने उनके (ज्योतिरादित्य सिंधिया) दावों की अनदेखी की और कमलनाथ को मध्यप्रदेश का सीएम बना दिया. दो साल बाद सिंधिया के BJP में आने के बाद सरकार गिर गई. बाद में वह केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हो गए.

पंजाब चुनाव में भी दोहराई गलती

इन गलतियों के बाद भी कांग्रेस (Congress) ने सबक नहीं लिया और पंजाब में सत्ता गंवाई. पंजाब में कांग्रेस ने दलित चेहरे चरणजीत सिंह चन्नी पर फैसला करने से पहले CM अमरिंदर सिंह की जगह नवजोत सिंह सिद्धू को स्थापित करने की कोशिश की. चुनाव में बमुश्किल छह महीने बचे होने के कारण सीएम बदलने की जल्दबाजी की प्रक्रिया में सब गड़बड़ हो गया. सिंह ने चुनाव से पहले पार्टी छोड़कर कांग्रेस (Congress) को बड़ा झटका दिया. कांग्रेस 2022 के चुनाव में सिर्फ 18 सीटों पर सिमट गई, जबकि पंजाब राज्य को आम आदमी पार्टी की नई सरकार मिली.

कांग्रेस में ड्रामा जारी, गहलोत के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिये नामांकन भरने पर संशय! माकन बोले MLA ने की अनुशासनहीनता

बढ़ता गया BJP का दायरा

इस बीच BJP ने सफलतापूर्वक दो बार उत्तराखंड में अपना CM बदला और सत्ता बरकरार रखी. इतना ही नहीं 2022 के गुजरात चुनावों की तैयारी में पिछले साल BJP ने राज्य में अपना पूरा मंत्रिमंडल ही बदल दिया.

असम में कांग्रेस (Congress) को मुंह की खानी पड़ी

कांग्रेस (Congress) के साथ ऐसा ही असम में भी हुआ. असम में कांग्रेस (Congress) ने युवा नेता हिमंत बिस्वा के दावों की अनदेखी की और तरुण गोगोई पर भरोसा जताया. तरुण गोगोई और हिमंत बिस्वा सरमा के बीच विवाद का खामियाजा कांग्रेस (Congress) को असम में सत्ता गंवा कर भुगतना पड़ा. हिमंत बिस्वा सरमा ने राहुल गांधी पर अपने पालतू कुत्ते पर अधिक ध्यान देने का आरोप लगाते हुए पार्टी छोड़ दी. तब से वह पूरे उत्तर पूर्व में सबसे शक्तिशाली BJP  नेता के रूप में उभरे हैं और अब असम के मुख्यमंत्री हैं.

https://www.facebook.com/webmorcha

Related Articles

Back to top button
IND vs BAN: रोहित शर्मा ने पहला वनडे हारने के बाद सुधारी गलती आईपीएल के अगले सीजन में लागू होगा ये अनोखा नियम, अब 11 नहीं इतने खिलाड़ी एक ही मैच में लेंगे हिस्सा ढाका में भारत और बांग्लादेश की टक्कर, ‘करो या मरो’ मैच में उतरेगी टीम इंडिया IND vs BAN: रद्द होगा भारत-बांग्लादेश के बीच दूसरा वनडे Anupamaa Spoiler: कहानी ने मारी पलटी! अनुपमा का होगा किडनैप, डिंपल का ये एक्शन बजाएगा विलेन की बैंड