कोमाखानमहासमुन्द

बिना विशेषज्ञ शिक्षकों के नर्रा में पढ़ाई, निगम ने कहा करें भर्ती, ताकि छात्रों को मिल सकें अधिकार

नर्रा. महासमुंद। छत्तीसगढ़  के अंतिम छोर मे ओडिशा  सीमा से  लगे ग्राम नर्रा के शासकीय कुलदीप निगम उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में 2007 से शासकीय निर्देशानुसार हायर सेकंडरी की कक्षाएं प्रारम्भ हुई है। इस स्कूल में प्रारंभ से ही विषय विशेषज्ञ व्याखाताओ की कमी बनी हुई है।

यहां पढ़ें: http://सीएम की कृपा सरकारी खजाने से भाजपा कार्यकर्ताओं को स्वच्छानुदान

विद्यालय में शाला प्रबंधन एवं विकास समिति के सदस्य एवं पूर्व अध्यक्ष मंडी समिति बागबहरा विजय शंकर निगम ने प्रशासन से जल्द विशेषज्ञ व्याखाताओ की नियुक्ति की मांग की है। उनका कहना है विषय विशेषज्ञ व्याखाताओ की कमी  के बावजूद छात्रों द्वारा 92% तक अंक लाना क्षेत्र के छात्रों के लग्न एवं मेहनत का द्योतक है।

http://विधायक डा. चोपड़ा ने कहा शासन के नियंत्रण से निकल चुका है प्रशासन, सचिव को लिखा पत्र

जानिए ऐसे मिली है स्वीकृति

  • शासन के स्वीकृत सेटअप के अनुसार शाला मे प्राचार्य – 01,
  • व्याखाता हिन्दी – 02 पद
  • अंग्रेज़ी – 02 पद ,
  • वाणिज्य – 02 पद,
  • जीव विज्ञान – 02 पद,
  • भौतिकी – 01 पद, रसायन – 01 पद, अर्थशास्त्र/भूगोल – 01 पद, राजनीति विज्ञान – 01, खेल शिक्षक – 01 पद,ग्रंथपाल -01 पद, लेखापाल 01 पद, सहायक ग्रेड  03—02 पद, भृत्य – 03 पद, चौकीदार – 01 पद स्वीकृत है।

http://वार्ड पंचों का बड़ा खेल: रिश्तेदारों में बंट गया प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान

14 पद सालों से है रिक्त

  • जिनमें से वर्तमान में प्राचार्य का पद रिक्त है,
  • जीव विज्ञान का एक पद रिक्त है,
  • गणित के दोनों पद रिक्त है,
  • भौतिकी, रसायन में एक एक पद रिक्त है
  • वाणिज्य मे एक पद रिक्त है
  • जबकि कार्यालयों पदों मे लेखापाल, सहायक ग्रेड 03, चौकीदार के सभी पद रिक्त पडे़ हुए हैं।
  • विद्यालय में विज्ञान निकाय में एकमात्र व्याखाता जीव विज्ञान में पदस्थ है
  • शेष सभी पद रिक्त पड़े हुए है,
  • एक व्याखाता एवं दो विज्ञान सहायकों के भरोसे विद्यालय में विज्ञान तथा गणित का अध्यापन चल रहा है।

यहां पढ़ें: http://मांगों को लेकर शासकीय विभाग में कार्यरत छग के कर्मचारी 16 को करेंगे आंदोलन

स्कूल तो है लेेके न संसाधन की कमी

इस विद्यालय में नीति आयोग के अटल टैंकरों लैब, स्मार्ट क्लास की सुविधाएं उपलब्ध है, के साथ छ. ग. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद् के सहयोग से साइंस लायब्रेरी खोली गई है। अटल टैंकरों लैब के माध्यम से देश के प्रधानमंत्री, बाल वैज्ञानिक की सोच वाले बच्चों को निकलते देखना चाहते हैं।

http://MORE स्‍वच्‍छता मंत्रालय ने स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2018 का किया शुभारंभ,सभी जिलों में 1 अगस्‍त से 31 अगस्‍त तक सर्वेक्षण

लेकिन विद्यालय में गणित, भौतिकी, रसायन जैसे महत्वपूर्ण विषयों में कमी के कारण अटल टैंकरों लैब अपने उद्देश्य मे पिछड़ सकता  है। एक मात्र विज्ञान शिक्षक यदि लैब में ध्यान दे तो नियमित अध्यापन प्रभावित हो सकता है। इस विद्यालय में कक्षा 12वीं का विज्ञान  निकाय का परीक्षा फल पिछले कुछ वर्षों से लगभग शत प्रतिशत आ रहा है।

यहां पढें: http://27-28 जुलाई को शताब्‍दी का सबसे लंबा संपूर्ण चन्‍द्रग्रहण मंगल और सूर्य एक दूसरे के आमने-सामने होंगे

पद की पूर्ति के लिए शासन-प्रशासन से गुहार

विजय शंकर निगम ने कहा इस विद्यालय में प्रशासन विषय विशेषज्ञ व्याखाताओ की नियुक्ति करता है, छात्र और बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की है कि यदि वर्तमान में नियमित नियुक्तियां नही हो सकती है। तो जिला खनिज निधि से अस्थायी तौर पर विशेषज्ञ व्याख्याता की पद पूर्ति करने की महती कृपा करें जिसके लिए अंचलवासी एवं विशेष कर छात्र गण आभारी रहेंगे।

यहां पढ़िए : सत्य घटना पर आधारित लघु कथा:

 http://मंदिर में चल रहा था ज्ञान दर्शन, मिली संवेदना भरी खबर, पढ़िए कुआंरी अभागन की एक रात

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button