ठगी का अद्भूत नमुना: रायपुर में digital डकैती, Bank से ठग ने उड़ाए 23 लाख रुपए

रायपुर। रायपुर में सिविल लाइंस स्थित IDBI बैंक से एक ठग ने digital डकैती करते हुए 23 लाख 31 हजार 955 रुपए उड़ा लिए. प्रदेश में अपनी तरह के पहले मामले की शिकायत Police के पास पहुंची है. बैंक मैनेजर राजेश प्रसाद ने इस केस में Police से जांच की मांग की है. खास बात ये है कि ठग ने बैंक इस ब्रांच के ग्राहक एक स्टील कारोबारी का नाम लेकर फोन और ई-मेल किया और ये रकम हासिल कर ली.

IDBI बैंक के सेवा संचालक प्रबंधक रवि शेखर सिंह ने Police को बताया कि उनकी बैंक शाखा में मेसर्स बैद स्टील प्राइवेट लिमिटेड का अकाउंट है. इसे मंजू बैद, सोनल बैद, संयम बैद, श्रेयांश बैद ऑपरेट करते हैं. 2 जुलाई को उन्हें 9871364226 नंबर से कॉल आया. फोन करने वाले खुद को संयम बैद बताया. उसने कहा कि एक मेडिकल एमरजेंसी में रुपयों की जरूरत है, पैसे अस्पताल में देने हैं. उसने RTGS के जरिए पैसे देने को कहा.

यहां पढ़ें: छत्तीसगढ़: पद्म पुरस्कारों के लिए आवेदन 20 अगस्त तक आमंत्रित: देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है…

बैक को नहीं लगी भनक

बैंक वालों को भरोसे में लेने के लिए एक डिमांड लेटर बैंक की शाखा में उसने मेल भी किया.  पत्र में किए गए संयम बैद के हस्ताक्षर को खाते में हस्ताक्षर के साथ मिलाकर उसके बताए अकाउंट्स में रुपए ट्रांसफर कर दिए गए. रुपए ट्रांसफर किए जाने के बाद बैंक में मेसर्स बैद स्टील प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक संयम बैद ने उसी दिन कॉल किया. रुपए ट्रांसफर होने की जानकारी मिलने पर उन्होंने कहा कि मैंने कोई मेल नहीं भेजा ना ही अस्पताल की इमरजेंसी जैसी कोई बात है. हड़बड़ा कर संयम बैद बैंक की सिविल लाइंस ब्रांच पहुंच गए.

बैंक के लापरवाह कर्मचारियों पर बरसते हुए उन्होंने ठग के नंबर पर कॉल किया. हैरानी की बात थी कि असली संयम बैद को ठग ने अपना परिचय संयम बैद के रूप में ही दिया. उसने कहा कि वो बैंक आकर मुलाकात करेगा मगर कोई नहीं पहुंचा. इसके बाद बैंक के ब्रांच आफिसर्स ने फौरन उन बैंकों से संपर्क किया, जहां ठग के कहने पर रुपए भेजे गए थे. HDFC बैंक के खाते को लॉक करवाने में टीम कामयाब रही. इसमें लगभग 19 लाख 9000 रुपए थे. बाकी के खातों से ठग ने रुपए निकाल लिए था. हालांकि, बैंक ने उन खातों को सीज करवाकर उनकी जानकारी पुलिस को दी है.

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks