ठंड मौसम में इस सुपर फूड के सेवन से ताकतवर बन जाएगा आपका शरीर   

ठंड में खजूर को सुपर फूड (super food) कहा जाता है। यह स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसके सेवन से शरीर को ऊर्जा मिलती है और आपको ताकतवर बना देता है। मौसमी है जो मौसम के मुताबिक, आपके शरीर का ढालता है। इसमें मुख्य रूप से आयरन, फास्फोरस, मैग्नीशियम और कैल्शियम, विटामिन ए, विटामिन के, थायमिन होते हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं जो डायबिटीज के खतरे को कम करते हैं। साथ ही दिल के मरीजों के लिए अच्‍छा होता है। आइए जानते हैं ठंड में खजूर (khajoor) खाने से क्‍या-क्‍या होते हैं फायदे…

पाचन तंत्र को ठीक करें

ठंड सर्दियों (cold winter) के दिनों में पाचन क्रिया गड़बड़ा जाती है। क्‍योंकि ठंड में भूख बहुत लगती है लेकिन घूमते नहीं है। ऐसे में खाना पचता नहीं है और पेट खराब हो जाता है। इसके लिए खजूर (khajoor) का सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद फाइबर आपके पाचक रस के स्राव को बढ़ाताहै। साथ ही इसके सेवन से कोलन कैंसर का खतरा भी कम होता है।

ठंड के मौसम में छुहारे खाने से होंगे ये बड़े Benefits , आज ही करें Diet में शामिल

चमड़ी को बनाएं ग्लोइंग

खजूर स्वास्थ्य और सौंदर्य दोनों के लिए बहुत अच्‍छा होता है। सर्द हवा से ठंड में स्किन सूख जाती है। जिससे खिंचाव होने लगता है और कई बार स्किन फट भी जाती है। इसलिए खजूर (khajoor) का सेवन करना चाहिए। यह आपकी स्किन की नमी को सामान्य रखने में मदद करेगा।

शरीर ऊर्जा के लिए सबसे अच्‍छा माध्यम

दरअसल, खजूर (khajoor) गर्म होता है। जो आपके शरीर में ऊर्जा का संचार करता है। जिससे बॉडी में फुर्ती बनी रहती है। और ठंड में काम करने में भी परेशानी नहीं आती है। खजूर में कार्बोहाइड्रेट होता है।

दिल को दे ऐसे आराम

खजूर (khajoor) में मौजूद फाइबर और पोटेशियम शरीर के लिए जरूरी स्‍त्रोत है। इसका सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। इसमें आइसोफ्लेवोंस पाया जाता है जिससे दिल की बीमारियों का खतरा कम होता है। क्‍योंकि ठंड के दिनों में हृदयाघात का खतरा अधिक होता है। यह हमारे शरीर के तापमान को सामान्य रखने में मदद करता है।

नींद का सबसे अच्‍छा खजूर

यदि आपको बहुत अधिक ठंड लगने से नींद नहीं आती है तो रात को खजूर (khajoor) का दूध जरूर पीएं। इसके लिए एक गिलास से अधिक दूध लें। उसमें 8 से 10 खजूर (khajoor) को साफ करके डाल दें। 15 से 20 मिनट तक उसे उबालें। अगर दूध गाढ़ा नहीं पड़ता है तो उसेथोड़ी देर और उबालें। इसके बाद रात को सोने से पहले उसे पीकर सोएं। इसके बाद रात को पानी नहीं पिएं। इससे सर्दी-जुकाम भी नहीं होगी। रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ेगी।

यह सामान्‍य जानकारी है, शुगर और कोलेस्‍ट्रोल अधिक होने पर चिकत्सक से सलाह लेकर ही सेवन करें।

हमसे जुड़िए…

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

Followthislink WhatsApp

Back to top button