होम

इंडिया में EVM एक ब्लैक बॉक्स है, एलन के बाद राहुल ने उठाए सवाल, जांच की इजाजत नहीं’

webmorcha.com

Rahul Gandhi on EVM: लोकसभा चुनाव 2024 के नतीजे 4 जून को घोषित हुए थे और बीजेपी की नेतृत्व वाली NDA को 293 सीटें मिली थी, वहीं इंडिया गठबंधन ने 232 पर कब्जा किया था. पिछले कुछ सालों में हर चुनाव के बाद EVM हैक का मामला जरूर उठता है, लेकिन इस बार चुनाव नतीजे घोषित होने के बाद किसी ने भी ईवीएम का मुद्दा नहीं उठाया. हालांकि, अब यह मुद्दा एक बार फिर चर्चा में आ गया है और कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ईवीएम को ब्लैक बॉक्स करार दिया है. राहुल गांधी का यह बयान एलन मस्क (Elon Musk) के पोस्ट के बाद आया है, जिसमें उन्होंने हैक का खतरा बताते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन यानी ईवीएम से नहीं कराने की सलाह दी है.

चुनावी प्रक्रिया में पारदर्शिता को लेकर गंभीर चिंताएं: राहुल

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘भारत में EVM एक ‘ब्लैक बॉक्स’ है और किसी को भी उसकी जांच करने की अनुमति नहीं है. हमारी चुनावी प्रक्रिया में पारदर्शिता को लेकर गंभीर चिंताएं जताई जा रही हैं. जब संस्थाओं में जवाबदेही की कमी होती है तो लोकतंत्र एक दिखावा बन जाता है और धोखाधड़ी की संभावना बढ़ जाती है.’

Weekly Horoscope जानें इस सप्ताह आपके लिए कैसा होगा,  17 से 23 जून 2024 साप्ताहिक राशिफल

राहुल गांधी ने पोस्ट में मुंबई की घटना का किया जिक्र

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एलन मस्क (Elon Musk) के पोस्ट को रीट्वीट करते हुए एक न्यूज पेपर की कटिंग भी शेयर की है, जिसमें मुंबई के गोरेगांव की एक घटना का जिक्र है. ईवीएम हैक के मामले में मुंबई पुलिस ने उत्तर-पश्चिम मुंबई से सांसद रवींद्र वायकर के रिश्तेदार मंगेश पांडिलकर के खिलाफ केस दर्ज किया है. मंगेश पांडिलकर पर मुंबई के गोरेगांव चुनाव सेंटर के अंदर पाबंदी होने के बावजूद मोबाइल का इस्तेमाल करने का आरोप है. इसके साथ ही पुलिस ने मंगेश को मोबाइल देने के आरोप में चुनाव आयोग के एक कर्मचारी के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है.

पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि मंगेश पांडिलकर ने उस फोन का इस्तेमाल किया था, जो ईवीएम मशीन से जुड़ा था. जांच में पता चला है कि मोबाइल फोन का इस्तेमाल ईवीएम मशीन को अनलॉक करने वाले ओटीपी को जनरेट करने के लिए किया गया था. पुलिस ने मोबाइल को जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेज दिया है ताकि फोन का डेटा निकाला जा सके.

webmorcha.com
इंडिया में EVM

EVM पर रोक लगाना चाहते हैं एलन मस्क

टेस्ला, एक्स और स्पेसएक्स के सीईओ एलन मस्क (Elon Musk) ने चुनाव में ईवीएम के इस्तेमाल पर रोक लगाने की सलाह दी है. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर मस्क ने लिखा है, ‘हमें EVM मशीनों को खत्म कर देना चाहिए. EVM को इंसानों या एआई द्वारा हैक किए जाने का जोखिम है, हालांकि कम है लेकिन फिर भी बहुत अधिक है.’

जीवन में शामिल करें ये 5 आदतें, स्वस्थ्य रहने के साथ जल्द नहीं आएगा बुढ़ापा

https://www.facebook.com/webmorcha

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने ट्यूटोरियल देने की पेशकश की

इसके साथ ही राजीव चंद्रशेखर ने सुरक्षित इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को ठीक से डिजाइन करने और बनाने के तरीके पर एक ट्यूटोरियल देने की भी पेशकश की है। इस बहस में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने एलन मस्क को जवाब देते हुए कहा कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को ठीक से डिजाइन और बनाया जा सकता है जैसा कि भारत ने किया है। हमें इस पर एक ट्यूटोरियल देने में काफी खुशी होगी।

ऐसे हुआ पूरे विवाद का जन्म

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के उम्मीदवार रॉबर्ट एफ कैनेडी जूनियर ने सैकड़ों मतदान प्रक्रिया में धांधली पर एक एसोसिएटेड प्रेस का हवाला दिया और ऐसे मामलों की पहचान और उनको ठीक करने के लिए पेपर बैलेट के महत्व पर जोर दिया। रॉबर्ट कैनेडी ने कहा कि किस्मत से ये एक पेपर बैलेट था, इसलिए इसकी पहचान कर ली गई और वोटों की गिनती को ठीक कर लिया गया।

उन्होंने आगे चिंता जताई कि उन क्षेत्रों और इलाकों में क्या होता होगा, जहां पर पेपर बैलेट नहीं है? अमेरिका के लोगों को ये जानने की जरूरत है कि उनके हर एक वोट की गिनती की गई है और चुनावी प्रक्रिया हैक नहीं की जा सकती है। हमें इसे खत्म करने के लिए और इलेक्ट्रॉनिक खामियों को दूर करने के लिए पेपर बैलेट को वापस लाने की जरूरत हैं। मेरे प्रशासन को पेपर बैलेट की जरूरत होगी और हम ईमानदार और निष्पक्ष चुनाव की गांरटी देंगे।

ये भी पढ़ें...