होम

अकूत संपत्ति खोदने वाले JCB मालिक की शिनाख्त, लेकिन, गुनाहगार तक नहीं पहुंची प्रशासन!

webmorcha

महासमुंद। छत्तीसगढ़ के प्राचीर सिरपुर को सहेजने गंभीर लापरवाही बरती गई है। यहां अकूत खजाने (संपत्ति) की खोदाई की गई, जिसकी आंकलन करना बेमानी होगी। घटना को दो दिन बीत गए लेकिन अभी इसकी जांच आगे नहीं बढ़ पाई है।

मीडिया को दिए बयान में महासमुंद रेंजर सियाराम कर्माकर ने इस घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 26 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर JCB CG04NT4037 को जब्त कर राजसात करने की कार्यवाही प्रारंभ कर दी गई है।

रहस्यमयी होता जा रहा मामला

पुरातात्विक महत्व के स्थल को क्षति पहुंचाने, कथित तौर पर गड़ा खजाना (बेशकीमती मूर्ति अथवा धन) खोजने के लिए संरक्षित क्षेत्र में अवैध रूप से खोदाई करने वालों के विरुद्ध सख्ती से कार्यवाही नहीं किए जाने से समूचा मामला संदेह के दायरे में है। घटना के दो दिन बाद और मीडिया में खबर प्रकाशित होने के बाद जिम्मेदार लोग हरकत में आए जरूर हैं, अभी भी मामले को रफा-दफा करने की कवायद हो रही है। दरअसल में जब्त JCB नरेंद्र वर्मा खरोरा के नाम पर दर्ज है।

इस घटना के समूचे अपराध की विवेचना में संबंधित JCB  का मालिक सूत्रधार हो सकते हैं। पुलिस JCB  मालिक के जरिये अपराधियों तक आसानी से पहुंच सकती है। लेकिन, प्रशासन की चुप्पी आश्चर्यजनक है। जानकार बताते हैं कि JCB  मालिक और उसके कुछ रिश्तेदार आज अफसरों के पास महासमुंद पहुंचकर मामले को कमजोर कर JCB को छुड़ाने का जुगाड़ लगा रहे थे। सूत्रों से ऐसी जानकारी मिली है कि JCB  घटना के पहले दिन चोरी हो गई थी, ऐसा मिथ्या रिपोर्ट पुलिस में अब लिखाकर JCB  मालिक अपना दामन बचाने की कोशिश भी कर सकते हैं।

118 वर्ष से भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) से संरक्षित क्षेत्र है सिरपुर

उल्लेखनीय है कि Sirpur को वर्ल्ड हेरिटेज की सूची में शामिल करने लम्बे अर्से से प्रयास किया जा रहा है। सिरपुर क्षेत्र के करीब 10 से 15 किमी क्षेत्र की परिधि वर्ष 1906 से संरक्षित क्षेत्र घोषित है। जहाँ भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की पूर्वानुमति के बिना कोई भी खोदाई गैर कानूनी और दंडनीय अपराध है। इस मामले में अवैध खोदाई कर पुरातात्विक महत्व की मूर्तियों, टीलों को क्षति पहुंचाई गई है। इसके बावजूद ASI के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा पुलिस में आपराधिक प्रकरण दर्ज नहीं कराया जाना अनेक संदेहों को जन्म दे रहा है। ठोस कार्यवाही करने के बजाय जिम्मेदार विभाग एक-दूसरे के सिर पर कार्यवाही करने की जिम्मेदारी डाल कर पल्ला झाड़ते नजर आ रहे हैं।

विश्व धरोहर सिरपुर के संरक्षण में शासन – प्रशासन फेल : विनोद चंद्राकर

सिरपुर में खुदाई का मामला गंभीर कड़ी कार्यवाही की मांग: अंकित

छत्तीसगढ़ में गड़ाधन, देखें वीडियो..अकूत संपत्ति का अनुमान!

महासमुंद, गड़े धन की लालच में आधी रात जंगल के भीतर खुदाई, देखें Video

https://www.facebook.com/webmorcha

ये भी पढ़ें...