होम

तहसील में थप्पड़ कांड : पक्ष में राजस्व महकमे के साथ समाज भी आया आगे, लेकिन पीछे से एक पुरानी सनसनी मीडिया में वायरल

webmorcha.com

झलप (महासमुंद) तहसील का थप्पड़ कांड पूरे प्रदेश में गूंज रहा है। राजस्व महकमे से जुड़े संगठनों के साथ सियासत और समाज भी घटना को लेकर आक्रोश में है। हर स्तर पर आंदोलन की तैयारियां चल रही हैं, ज्ञापन के जरिए राजस्व मंत्री को भी सूचना दी गई है, लेकिन इन सब के बीच एक पुरानी घटना ने थप्पड़ कांड में पीछे से एंट्री की है और उससे पूरे प्रदेश में सनसनी फैल रही है। इंटरनेट के लगभग सभी सर्च इंजन झलप की घटना और उससे जुड़े लोगों और अफसर की डिटेलिंग को ट्रोल कर रहा है। सर्च इंजन झलप की घटना के साथ अफसर के नाम को हाइलाइट करते हुए सोशल मीडिया में पोस्ट 2020 की घटना को सामने ला रहा है, जिसमें अफसर दुष्कर्म का आरोपी रहा है। हालांकि दुष्कर्म की घटना में अदालती अपडेट हुई हो तो उससे यह मीडिया अनजान है।

फिलहाल झलप तहसील में थप्पड़ कांड के पक्ष में राजस्व महकमे के साथ साहू समाज भी आंदोलन के मूड में आगे आया है, लेकिन पीछे से उक्त पुरानी सनसनी के मीडिया में वायरल होते ही लोगों की जिज्ञासा भी अधिक बढ़ गई है, कि आखिर वह पूरा माजरा है क्या। लोग उन तस्वीरों को जूम कर देख रहे हैं जिसमें दुष्कर्म आरोपी के रूप में साहब को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। खबरों को चटखारे लेकर पढ़ रहे हैं जिसे गिरफ्तारी का कारण बताते हुए बेमेतरा पुलिस ने मीडिया के सामने लाया था। पुराने पोस्ट के अनुसार झलप के थप्पड़ कांड में पीडित तहसीलदार युवराज साहू पर दुष्कर्म का आरोप लगा था, और उसमें उनकी गिरफ्तारी हुई थी। मामले में तहसीलदार युवराज साहू ने WebMorcha को बताया कि बेमेतरा में जिस घटना को लेकर उन्हें आरोपी बनाया गया था, उसमें अदालत ने उन्हें आरोपमुक्त करार दिया है।

जानिए क्या है थप्पड़ कांड

मामला 26 मई 2020 की है, जब पीएससी परीक्षा की तैयारी कर रही युवती ने बेमेतरा सिटी कोतवाली में लिखित में आवेदन दिया. शिकायत में युवती ने लिखा था कि युवराज साहू 2015 से उसे शादी करने की बात कहकर शारीरिक संबंध बनाता रहा. पीड़िता के अनुसार वह 2015 में वह बेमेतरा में पढ़ाई करती थी. तब युवराज साहू जिले के बालसमुंद और सिंघौरी गांव में टीचर था. जिसके बाद 2019 में युवराज की पोस्टिंग नायब तहसीलदार के रूप में बलौदाबाजार जिले के सिमगा में हुई.

उस समय युवती  ने आरोप लगाया था कि नायब तहसीलदार पद पर पोस्टिंग के समय ही युवराज ने किसी दूसरी लड़की के साथ सगाई कर ली और महिला को इसकी जानकारी भी नहीं दी. वहीं 5 साल तक शारीरिक संबंध बनाने के बाद शादी से मुकर गया. पुलिस ने युवती की रिपोर्ट पर नायब तहसीलदार के खिलाफ विभिन्न धाराओें के तहत मामला दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया था।

ये पुरानी खबर हो रहा वायरल

webmorcha.com
थप्पड़ कांड

महासमुंद नायब तहसीलदार की ऑफिस में पिटाई, 420 कहने पर हुई झगड़ा

वायरल पोस्ट महासमुंद जिले की खबरें इस ग्रुप में प्रशासनिक अफसर मौजूद हैं…

webmorcha.com
वायरल पोस्ट महासमुंद जिले की खबरें

 

https://www.facebook.com/webmorcha

डिस्कमेलर: अफसर से जुड़ी दोनों ही घटनाओं की पुष्टि webmorcha नहीं करता, पूरी सूचना सोशल मीडिया में वायरल खबरों पर आधारित है।

 

 

ये भी पढ़ें...