छत्तीसगढ़: मौत से खिलवाड़ करने वाले डॉक्टर और उसके साथी को पुलिस ने छोड़ा

भिलाई। कोरोना से जान बचाने वाली इंजेक्शन रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले को पुलिस ने प्रतिबंधात्मक कार्रवाई कर छोड़ दिया है। बतादें, समय पर इस इंजेक्शन के नहीं मिलने से अफरा-तफरी का माहौल बन गया है। कहा जा सकता है कि सीधे मौत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा था। हालांकि पुलिस ने रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले डॉक्टर पीयूष शुक्ला और उसके साथी कुलेश्वर पटेल को अब छोड़ दिया है। जबकि दुर्ग कलेक्टर ने रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले को सीधे जेल भेजने के निर्देश दिए हैं।

जानिए क्या है पूरा मामला

भिलाई में 16 अप्रैल को आकाशगंगा सुपेला क्षेत्र में निजी ऑटो मोबाइल कंपनी के दफ्तर के सामने ड्रग विभाग ने डॉक्टर और उसके साथी को मंहगे दाम में रेमडेसिविर इंजेक्शन को बेचते रंगे हाथ पकड़ा था। Police भी मौके पर पहुंची। इसके बाद आरोपियों को थाने ले जाया गया। जहां से अब उन दोनों को छोड़ दिया गया। जहां रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी को लेकर पूरे देश में कार्रवाई हो रही है। वहीं दुर्ग जिले में ऐसे ही एक मामले में आरोपी पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करने के सिवाय कोई ओर रास्ता नहीं था।

वायरल वीडियो: शराब और कोरोना को लेकर दिल्ली के इस महिला ने क्या कहा खुद सुनिए

ड्रग विभाग के ADO बीआर साहू ने बताया कि चिकित्सक और उसके सहयोगी  के द्वारा इंजेक्शन की कालाबाजारी की सूचना मिली थी। इसके बाद प्लानिंग के तहत दोनों को रंगे हाथ पकड़ा गया। दोनों ने 4800 कीमत के इंजेक्शन का सौदा 13000 रुपए में किया था। दोनों के पास से 52000 रुपए कीमत के इंजेक्शन जब्त किया गया। चूकिं,  केस दर्ज नहीं किया गया है। आगे विभाग कार्रवाई कर रहा है। रेमडेसिविर इंजेक्शन के मामले सुपेला Pollce ने बताया कि प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई है।

हमसे जुड़िए

https://twitter.com/home             

https://www.facebook.com/?ref=tn_tnmn

https://www.facebook.com/webmorcha/?ref=bookmarks

https://webmorcha.com/

https://webmorcha.com/category/my-village-my-city/

9617341438, 7879592500,  7804033123